कासली के बिजली दफ्तर में घुसकर की वारदात

मनोहर कुमार पारीक 

कासली के बिजली दफ्तर में मंगलवार को दर्जनों युवकों ने घुसकर जेईएन व बिजली कर्मचारियों के साथ लात-घूंसों से मारपीट कर डाली। धोद थाने में राजकार्य में बाधा पहुंचाकर मारपीट करने का मुकदमा दर्ज कराया गया है। जेईएन सुभाष पूनिया ने बताया कि वह कासली गांव में कार्यरत है। कार्यालय का स्टाफ बिजली के बकाया बिलों के लिए बाहर गए थे। कार्यालय में दो लाइन मैन जितेंद्र, सुभाष व प्रेमकुमार मौजूद थे। एक युवक रफीक पुत्र मजीद खां, नासीर पुत्र अब्दुल आए। बिजली के बिल को लेकर लाइनमैन से गाली-गलौच करने लगे। जेईएन सुभाष ने पूछा कि बताओ क्या समस्या है तो युवक जेईएन के साथ भी बदतमीजी करने लगे। जेईएन वापस अपनी कुर्सी पर आकर बैठ गए। युवकों ने फोन कर इदरीश, शमशेर, जावेद, शाहरुख, इमरान, रफीक, नासीर, शाहरुख, आसीफ को फोन कर बुला लिया। सभी युवक आते ही जेईएन व लाइनमैन से मारपीट करने लग गए। युवकों ने रजिस्टर व अन्य दस्तावेज फाड़ दिए। जेईएन के फोन को भी तोड़ दिया। आवाज सुनकर पड़ोस के कुछ युवक आए तो सभी युवक भाग गए। मारपीट करने की सूचना पर कासली के अन्य कर्मचारी आ गए। सूचना पर धोद पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। जेईएन सुभाष ने मुकदमा दर्ज कराया है।

युवकों की गिरफ्तारी नहीं होने तक कार्य बहिष्कार | धोद कार्यालय सहायक अभियंता धोद के बिजली कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार किया। कर्मचारियों का कहना है कि मारपीट कर तोडफ़ोड़ करने वाले बदमाशों को पकड़े नहीं जाने तक कार्य बहिष्कार रहेगा। जेईएन सुभाष ने बताया कि कासली प्रधान उस्मान खां ने पूरी योजना बनाकर युवकों को भेजा है।