दौसा. जिले में भीषण आग लगने से किसान की जिंदा जलकर मौत, बचाने आई पत्नी भी झुलसी

राकेश शर्मा 

लालसोट पंचायत समिति के नवरंगपुरा ग्राम में बुधवार को कच्चे छप्परों में आग लगने से एक व्यक्ति की जिंदा जलकर दर्दनाक मौत हो गई। हादसा तलाई वाली ढाणी में बुधवार दोपहर करीब एक बजे हुआ। जहां चार झोपड़ियां जल गई। इन्हीं एक झोपड़ी में मृतक कमलेश कुमार मीणा (35) सो रहा था। इससे वह बचकर बाहर नहीं आ सका और जिंदा जल गया। वहीं, पति को आग की लपटों के बीच फंसा देखकर पत्नी पाना देवी ने उसे बचाने का प्रयास किया। जिसमें वह झुलस गई। जानकारी के अनुसार तलाई वाली ढाणी निवासी कमलेश मीणा खेतों में काम कर घर लौटा। इसके बाद वह अपने कच्चे छप्परों से बने झोंपड़ी कमरे में सो रहा था। इसी बीच अचानक झोंपड़ी में आग लग गई। वह कुछ समझ पाता। इससे पहले तेज हवा से आसपास के चार झोंपड़ियां जल गई और कमलेश अंदर ही फंस गया। इस बीच खेत में काम कर रही कमलेश की पत्नी पाना देवी दौड़ते हुए मौके पर पहुंची। उसने हल्ला मचाया। लपटों के बीच चीख पुकार कर रहे पति को बचाने का प्रयास किया। इससे वह भी झुलस गई। तब तक आसपास मौजूद लोग दौड़कर मौके पर पहुंचे। बोरिंग चालू कर पानी फेंका और आग को बुझाया।इस बीच खेत में काम कर रही कमलेश की पत्नी पाना देवी दौड़ते हुए मौके पर पहुंची। उसने हल्ला मचाया। लपटों के बीच चीख पुकार कर रहे पति को बचाने का प्रयास किया। इससे वह भी झुलस गई। तब तक आसपास मौजूद लोग दौड़कर मौके पर पहुंचे। बोरिंग चालू कर पानी फेंका और आग को बुझाया।

आर्थिक मुआवजा राशि व अन्य सहयोग करने का दिया आश्वासन

बिजली के आने में देरी हुई। इससे वे तत्काल आग बुझाने के लिए बोरिंग नहीं चला सके। मौके पर नायब तहसीलदार सुधारानी मीना तथा विकास अधिकारी  योगेश मीना पहुंचे। उन्होंने पंचायत समिति की तरफ से पीड़ित परिजनों को 25 हजार रुपए की आर्थिक मदद का आश्वासन दिया।वहीं प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ भी दिए जाने के बारे बताया। मौके पर मौजूद सरपंच रामधन मीणा ने कहा कि पीड़ित परिवार को ग्राम पंचायत प्रशासन द्वारा दी जाने वाली सभी तरह की सहायता की जाएगी। वहीं उन्होंने कलेक्टर से पीड़ित परिवार को सहायता दिए जाने की मांग की है।