सप्लाई में दूषित पानी आने से गुस्साई महिलाओं ने ठेकेदार कर्मचारी का गिरेबान पकड़ा

नीमकाथाना/चला

मनोहर कुमार पारीक 

सांसद आदर्श गांव के ग्रामीण बीते एक महीने से दूषित पानी पीने को मजबूर हैं। इससे आक्रोशित कुमावत कॉलोनी की महिलाओं ने होली वाले दिन टंकी के पास विरोध प्रदर्शन किया।

जलदाय विभाग के ठेकेदार के कार्मिक की गिरेबां पकड़ ली। उसे गंदा पानी पिलाने का प्रयास किया गया। कहा- हम तो रोज ही गंदा पानी पी रहे हैं, आप भी उसे पिए। उन्होंने सरपंच प्रतिनिधि को भी खरी-खोटी सुनाई गई। जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शन कर रही महिलाओं का आरोप है कि पिछले एक महीने से सप्लाई में गंदा पानी आ रहा हैं। लेकिन जनप्रतिनिधि और ठेकेदार अनदेखी कर रहे हैं। गंदे पानी से बीमारी फैलने की आशंका बनी हुई हैं। दरअसल कुमावत कॉलोनी में कई दिनों से लीकेज की समस्या हैं। लीकेज से बड़ी टंकी के पास गहरा गड्ढा बन गया हैं। उससे सप्लाई में दूषित पानी आ रहा हैं। मामले में विभाग के अधिकारियों को अवगत कराया गया हैं। लेकिन लीकेज दुरुस्त नहीं किए। इसीलिए महिलाएं आक्रोशित हो गई। सरपंच प्रतिनिधि ने समझाईश कर मामले को शांत कराया। उन्होंने दो दिनो मे लीकेज सुधारने का भरोसा दिलाया। ऐसा नहीं करने पर ग्रामीणों ने आंदोलन की चेतावनी दी हैं।

शाहपुरा रोड स्थित बीएसएनएल ऑफिस के सामने शुक्रवार को सड़क पर पेयजल लाइन के लीकेज से गहरा गड्ढा बन गया। दुकानदारों ने इसकी सूचना विभाग के अधिकारियों को दी। व्यापारियों का कहना है कि शाहपुरा रोड पर पेयजल लीकेज की बड़ी समस्या हैं। यहां आए दिन ही पानी व्यर्थ बहता रहता हैं।