करनी सेना राजनीतिक दल बनकर चुनाव नहीं लड़ना चाहती- लोकेंद्र सिंह कालवी

ग्वालियर: करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान बताया कि आर्थिक आधार पर आरक्षण और संरक्षण को लेकर भोपाल में 31 मार्च को करणी सेना का सम्मेलन होगा। उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि करणी सेना राजनीतिक दल नहीं है और न ही राजनीतिक दल बनकर चुनाव लड़ना चाहती है। अपने प्रवास पर पत्रकार वार्ता में उन्होंने यह जानकारी दी।

लोकसभा चुनाव लड़ने संबंधी पूछे जाने के बाद उन्होंने कहा कि अगर करणी सेना के किसी पदाधिकारी को कोई राजनीतिक दल लोकसभा चुनाव में टिकट देता है, तो उसे अपने पद का त्याग करना होगा। हालांकि करणी सेना के लगभग आधा दर्जन पदाधिकारियों को लोकसभा मे टिकट देने की चर्चा चल रही है लेकिन अभी कुछ भी कहना उचित नहीं होगा। करणी सेना का एक बड़ा सम्मेलन 31 मार्च को भोपाल मे होने जा रहा है, जिसमें आरक्षण सहित अन्य कई विषयों पर चर्चा कर निर्णय लिया जाएगा। काल्वी ने कहा कि देश में आरक्षण आर्थिक आधार पर होना चाहिए। हाल ही में सामान्य वर्ग के लिए लागू हुए 10 प्रतिशत आरक्षण का लाभ मध्यप्रदेश के लोगों को नहीं मिल पा रहा है। राम मंदिर निर्माण को लेकर काल्वी ने कहा कि कहा कि राम मंदिर का निर्माण कोई भी करे सिर्फ नीति स्पष्ट होनी चाहिए।