10 दिन पहले जेल से छूटा, बड़े भाई की रंजिश में कर दी किशोर की हत्या

पार्थो चक्रवर्ती 

बिलासपुर

बड़े भाई के साथ मारपीट बदला लेने के लिए आदतन बदमाश ने 16 साल के किशोर को चाकू से गोद डाला। इस वारदात में उसके दो साथी भी शामिल थे। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया है। घटना सरकंडा क्षेत्र की है। चांटीडीह निवासी संदीप धूरी 16वर्ष का 21 मार्च को होली के दिन शीतला मंदिर के पास चांटीडीह के ही दुर्गेश रजक 25वर्ष से शाम 4.30 बजे बाइक चलाने के नाम पर विवाद हुआ। दोनों के बीच हाथापाई हुई। दुर्गेश का छोटा भाई राजा रजक 22 वर्ष आदतन बदमाश है। 10 दिन पहले ही वह जेल से छूटा था। जानी नामक युवक ने उसे दुर्गेश से विवाद के बारे में बताया तो वह अपने साथी राजा विश्वकर्मा व बुल्ठु रजक के साथ वहां पहुंचा। दुर्गेश वहां से जा चुका था। मौके पर संदीप मिला। राजा ने उसपर दो फल वाले चाकू से ताबड़तोड़ हमला कर दिया। उसने पेट पर लगातार पांच वार किए। इससे वह लहुलुहान होकर गिर पड़ा। आसपास के लोगों ने देखा तो राजा व उसके साथियों को दौड़ाया पर वे भागने में कामयाब हो गए। इधर, संदीप के परिजन उसे गंभीर हालत में सिम्स लेकर आए। यहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

सीसीटीवी में भागते दिखे तीनों आरोपी, आखिर पकड़े गए

हत्या करने के बाद अंजनी विहार में महिला के घर में घुस गया आरोपी

हत्या का प्रमुख आरोपी राजा रजक भाग रहा था। लोग उसे पकड़ने पीछा कर रहे थे। अंजनी विहार में वह छिपने एक महिला के घर घुस गया। महिला उसे बाहर निकलने के लिए कहा ताे वह बाथरूम के भीतर गया अाैर खुद को बंद कर लिया। इस बीच चाकू को उसने खिड़की के बाहर फेंक दिया। पुलिस ने उसे राजा की निशानदेही पर बरामद कर लिया है।

दो थानों की टीम बनी, दो घंटे के भीतर ही पकड़ाए

होली के दिन शांति व्यवस्था में जुटे पुलिस के अधिकारियों को जब इस बात की जानकारी मिली तो उन्होंने आरोपियों को पकड़ने सरकंडा व सिटी कोतवाली थाने से पुलिस की एक टीम बनाई। टीम ने आरोपियों की तलाश शुरू की। इनमें से दो राजा व बुल्ठू दो घंटे बाद ही जोरापारा सरकंडा में पकड़े गए। तीसरा आरोपी रात को चांटीडीह में पुलिस के हत्थे चढ़ गया। तीनों शहर से भागने की फिराक में थे और अपने रिश्तेदारों से पैसों का इंतजाम करने में जुटे थे। पुलिस ने राजा की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त चाकू बरामद कर लिया है। सरकंडा पुलिस ने तीनों के खिलाफ हत्या का जुर्म दर्ज कर उन्हें कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने जेल भेज दिया।

बड़ा भाई रिपोर्ट दर्ज कराने गया था

वारदात के समय मुख्य आरोपी राजा रजक का बड़ा भाई दुर्गेश एफआईआर दर्ज कराने सरकंडा थाने पहुंचा था। पुलिस मुलाहिजा कराने अस्पताल ले जाने वाली थी इसी दौरान हत्या की सूचना आ गई।

दो दिन पहले झगड़े थे

संदीप व उसके साथियों का दुर्गेश का दो दिन पहले भी साधारण विवाद हुआ था। दोनों के बीच मारपीट भी हुई थी पर विवाद शांत हो गया था। दोनों पक्षों ने एक दूसरे को देख लेने की धमकी दी थी।

पुलिस के मुताबिक इन्हीं आरोपियों ने दिया वारदात को अंजाम।

लोगों ने जला दी आरोपियों की स्कूटी

वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों आरोपी स्कूटी से भागने के फिराक में थे पर आसपास के लोग उन्हें पकड़ने के लिए दौड़े तो वह बाइक मौके पर ही छोड़कर भाग निकले। लोगों ने स्कूटी पर ही गुस्सा निकाला। उसमें तोड़फोड़ की और गाड़ी से पेट्रोल निकालकर जला दिया।

घटनास्थल के पास ही एक किराना दुकान है। यहां सीसी कैमरा लगा हुआ है। पुलिस ने कैमरे का फुटेज देखा तो इसमें आरोपियों की तस्वीर नजर आई। तीनों भागते इसमें कैद हो गए हैं। फुटेज पुलिस की विवेचना में काम आएंगे।