शौक पूरा करने के लिए सभी बन गए चोर, केकड़ी के पांच युवकों ने कबूली 24 चोरियां

गणेश योगी 

देवली|उक्त चोरियों की रोकथाम के लिए गत दिनो महानिरीक्षक पुलिस अजमेर रेंज संजीब नार्जरी के निर्देशानुसार रेंज स्तर की टीम का गठन पुलिस अधीक्षक चुनाराम जाट के द्वारा किया गया।जिसमें अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मालपुरा गोरधन लाल सोंकरिया, पुलिस उपाधीक्षक देवली नानग राम मीणा के निर्देशन में पुलिस निरीक्षक एवं थानाधिकारी देवली गयासुद्दीन, उपनिरीक्षक टोरड़ी चौकी प्रभारी नाहर सिंह, भंवर सिंह कानि. देवली, कानि. संदीप यादव थाना देवली, प्रेमचन्द गुर्जर, हेडकांस्टेबल सुरेश, कानि. हंसराज व थानाधिकारी केकड़ी राजेन्द्र गोदारा, रामराज, कानि. केदार थाना केकड़ी की टीम सयुंक्त रूप से गठित की गई। इस गठित टीम ने जिले में हो रही चोरियों के खुलासे के प्रयास शुरू कर दिए। गठित टीम के प्रयासों से केकडी के करीब आधा दर्जन युवको को संदिग्ध पाया। फिरोज खान पुत्र नन्हे खान निवासी बट्टा कॉलोनी वार्ड नं0 20 केकड़ी, दीपक कोरवानी निवासी केकड़ी, गौरव, दुर्गासिंह केकड़ी जिला अजमेर, विकास महावर, बिरधी चन्द केकड़ी, फारूख उर्फ बल्लु पुत्र निजामुद्दीन पिनारा मुसलमान निवासी भट्टा कॉलोनी 20 केकड़ी का नाम सामने आया।

ये था वारदात करने का तरीका

थाना प्रभारी गयासुद्दीन ने बताया कि आरोपी बहुत ही शातिर तरीके से वारदात को अंजाम देते थे। आरोपी गिरोह बनाकर रैकी करते हुए सूने मकान देखते थे। जहां पर शादी का कार्यक्रम होता था उसके आसपास में जिस मकान पर ताला लगा होता था उसे तोड़कर चोरी करते थे। आरोपी वारदात करने में 10 मिनट से ज्यादा समय नहीं लगाते है। मकान में आलमारियों का ताला तोडकर नगदी व जेवर लेकर फरार हो जाते थे। एक – दो जने घर के बाहर निगरानी रखते थे। आरोपी फिरोज व दीपक सिंधी बहुत ही शातिर तरीके से वारदात को अंजाम देते थे। फिरोज पुलिस थाना केकड़ी का हिस्ट्रीशीटर है।

सभी फरार हो गए थे

थाना प्रभारी गयासुद्दीन ने बताया कि इन आरोपियों की टोह लेकर पुलिस इनकी गिरफ्तारी पर लगी हुई थी। इसी दौरान आरोपियों को भनक लग गई थी उनका पुलिस पीछा कर रही है। इस पर वह फरार होकर माउन्ट आबू, अजमेर, दिल्ली, उत्तराखण्ड की और चले गए। लेकिन गठित पुलिस टीम ने आरोपियों का पीछा नहीं छोड़ा।