पुलिस ने देर रात आठ एसएफआइ कार्यकर्ता किए गिरफ्तार, एचपीयू में तनाव

मीनाक्षी भारद्वाज 

शिमला,  हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के हॉस्टल के नजदीक रविवार सुबह हुई एसएफआई और आरएसएस के स्वयंसेवकों की खूनी झड़प के बाद पुलिस ने देर रात आठ एसएफआइ कार्यकर्ताआें को गिरफ़तार किया है। सोमवार सुबह पांच बजे भी पुलिस ने दबिश दी। विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने विवि में वीसी का घेराव कर लिया है व आरोपित कार्यकर्ताओं को निष्‍कासित करने की मांग कर रहे हैं। एचपीयू में माहौल तनावपूर्ण हो गया है व छावनी में तबदील हो गई है। रविवार को हुई इस वारदात में करीब 15 छात्र घायल हो गए।

जानकारी के अनुसार, शाखा लगाने को लेकर एसएफआई के छात्रों से पहले कहा सुनी हुई और कुछ ही देर में बात खूनी लड़ाई तक पहुंच गई। विवि परिसर एक बार फिर तनाव से भर गया। पुलिस ने मामला दर्ज छानबीन शुरू कर दी। एसपी ओमापति जंबाल ने कहा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनमोहन जांच कर रहे हैं।उधर, हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्‍याशी एवं निवर्तमान सांसद अनुराग ठाकुर ने शिमला में हुए इस घटनाक्रम की निंदा की है। उन्‍होंने कहा प्रदेश सरकार दोषियों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई करे। हजारों विद्यार्थियों को लहुलूहान करने का इनका इतिहास रहा है। आरएसएस की शाखा पर हमला करने वालों का इतिहास रहा है कि जब यह अंत की ओर बढ़ते हैं तो ऐसी कायराना हरकतें करते हैं।