नौकरी दिलाने को दस लाख ठगे, फर्जी नियुक्ति पत्र थमाया

प्रदीप कुमार 

कायमगंज : कोतवाली क्षेत्र के ग्राम प्रेमनगर निवासी युवक ने मेरापुर थाना क्षेत्र के गांव अचरा, अचरिया बाकरपुर व कायमगंज क्षेत्र के गांव उलियापुर निवासी आठ लोगों के विरुद्ध न्यायालय के आदेश से मुकदमा दर्ज कराया। जिसमें आरोप है कि आरोपितों ने दो लोगों को रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर दस लाख रुपये लिए व फर्जी नियुक्ति पत्र थमा दिए।

प्रेमनगर निवासी सनी यादव द्वारा न्यायालय में दी गई तहरीर के मुताबिक उसके दोस्त उलियापुर निवासी रवी शाक्य ने ग्राम अचरा निवासी अंकित गंगवार से मिलवाकर कहा कि यह पांच लाख रुपये में रेलवे के टीसी पद पर लगवा देंगे। भरोसा कर सनी ने अपनी व अपने बहनोई राहुल की नौकरी के लिए रवी शाक्य, अखिलेश शाक्य व मनीष की गारंटी पर दस लाख रुपये दे दिए। कई महीने बाद डाक से उन दोनों के पते पर नियुक्ति पत्र आए। उन्हें लेकर वह दोनों नौकरी ज्वाइन करने रेलवे बोर्ड कोलकाता पहुंचे। वहां जाकर पता लगा कि नियुक्ति पत्र फर्जी है। वहां से लौट कर अंकित से रुपये मांगे तो उन्होंने 2.40 लाख की दो चेक दीं। जो खाते में धन न होने के कारण डिसआनर हो गईं। शिकायत करने पर विश्वास दिलाते हुए पांच अन्य चेकें दीं, लेकिन उन खातों में भी धन नहीं था। इस पर आरोपित अंकित ने भरोसा दिया दिसंबर 2018 तक पूरा रुपया लौटा देगें। रुपया न मिलने पर वह एक जनवरी 2019 को उनके घर अचरा गए। वहां अंकित, उनके भाई अंकुर, आशुतोष, पिता सर्वेश व मां शर्मीला आदि उन पर हमलावर हो गए। लाठी डंडों से मारपीट कर धमकाया। विवेचना अधिकारी एसआई श्वेता शर्मा ने बताया कि धोखाधड़ी व मारपीट में दर्ज मुकदमे की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।