आईएसआई एजेंट को दिल्ली से प्रोडक्शन वारंट पर किया गिरफ्तार, चार दिन के रिमांड पर आरोपी

मीनाक्षी पारीक 

जयपुर. हनी ट्रेप मामले में पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई के ईशारे पर काम करने वाले एजेंट को जयपुर की स्पेशल सेल पुलिस ने गिरफ्तार कर सोमवार को कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे चार दिन के रिमांड पर लिया है। एडीजी इंटेलीजेंस उमेश मिश्रा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी परवेज मुशर्रफ निवासी सुईवालान, चांदनी महल, दिल्ली है। उसे जयपुर में मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट के समक्ष कोर्ट में पेशकर रिमांड पर लिया है। एडीजी मिश्रा के मुताबिक प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि आरोपी परवेज मुशर्रफ पाक खुफिया एजेंसी के हैंडलर ऑपरेटर्स के सीधे संपर्क में था। वह पिछले 18 साल में 17 बार पाकिस्तान की यात्रा कर चुका है।वह सामरिक महत्व की गोपनीय सूचनाएं पाक खुफिया एजेंसी को देता था। इसकी एवज में उसे भारत व पाक में रहते वक्त आईएसआई द्वारा सहयोग किया गया। परवेज मुशर्रफ द्वारा दिल्ली पाक दूतावास से लोगों को जल्दी पाकिस्तानी वीजा दिलवाने का आश्वासन देकर पासपोर्ट एवं फोटो तथा रुपए लिए जाते थे।इसके बाद इन्हीं दस्तावेजों के आधार पर फर्जी तरीके से सिम कार्ड, मोबाइल सिम विक्रेता से मिलीभगत कर जारी करवाता था। इन सिमों को एक्टीवेट करवाने के बाद ये नंबर पाक एजेंसी के ऑपरेटर्स को बता देता था। इसके बाद वाट्सएप डाउनलोड कर कोड वर्ड में जानकारी शेयर करता था।वह भारतीय मोबाइल नंबरों पर पीआईओ द्वारा छद्म नाम से वाट्सएप ग्रुप संचालित करता था। इनमें भारतीय सैनिकों को दोस्ती कर जोड़ लेता था। फिर सामरिक महत्व की सूचनाएं इकट्‌ठा कर पाक एजेंसी आईएसआई को भेजता था।

इसकी एवज में पाक एजेंसी उसे मोटी रकम उपलब्ध करवाती थी। इससे पहले राष्ट्रविरोधी क्रिया कलापों में लिप्त पाए जाने पर एनआईए की टीम ने दिल्ली से आईएसआई एजेंट परवेज मुर्शरफ को गिरफ्तार किया था। जहां जेल से जयपुर पुलिस ने उसे प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया।

खबर व फोटो: विष्णु शर्मा