अरबपति हैं BJP सांसद हेमामालिनी, करोड़ों की पहनती हैं ज्वेलरी

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी की ओर से एक बार फिर मथुरा लोकसभा सीट के लिए चुनावी दंगल में उतरीं फिल्म कलाकार एवं वर्तमान सांसद हेमामालिनी एक अरबपति हैं। हेमामालिनी के पास करीब 2 करोड़ रुपए की ज्वेलरी है।  बीते पांच वर्षों में उनकी कुल सम्पत्ति की कीमत में 34 करोड़ 46 लाख रूपए का इजाफा हुआ है। जबकि, उनके पति धर्मेंद्र सिंह देओल की सम्पत्ति में केवल 12 करोड़ 30 लाख रूपए की ही वृद्धि हुई है। पति-पत्नी ने बीते पांच वर्षों में आयकर विभाग में दाखिल की गईं विवरणियों के अनुसार 10-10 करोड़ रूपए कमाए हैं। हेमामालिनी ने वर्ष 2013-14 में जहां 15 लाख 93 हजार रुपए कमाए वहीं गतवर्ष 1 करोड़, 19 लाख 50 हजार रूपए की घोषणा आयकर विभाग के समक्ष की है। 2014-15 में उन्होंने 3 करोड़ 12 लाख रूपए, 2015-16 में 1 करोड़ 9 लाख रूपए और 2016-17 में 4 करोड़ 30 लाख 14 हजार रुपए कमाए।

इस प्रकार, पांच वर्ष के कार्यकाल के दौरान उनकी कुल आय 9 करोड़ 87 लाख 55 हजार रुपए रही और धर्मेंद्र देओल की 9 करोड़ 72 लाख 78 हजार रुपए रही। हेमामालिनी के पास दो कारें हैं। जिनमें से एक र्मिसडीका है जो उन्होंने 2011 में (33 लाख 62 हजार 654 रुपए में) खरीदी थी। उसके अलावा एक टोयोटा है जो 2005 में पौने पांच लाख रूपए में खरीदी थी। चुनाव के लिए नामांकन के साथ दाखिल शपथपत्र के माध्यम से यह भी पता चलता है कि धर्मेंद्र अपने प्रिय जनों से ही नहीं, अपने पुराने वाहनों से भी काफी करीबी रिश्ता रखते हैं। शायद इसीलिए उन्होंने अब तक 1965 में मात्र 7 हजार रुपए में ली गई रेंज रोवर कार, 8 हजार रूपए में खरीदी मारुति 800 और 37 हजार में खरीदी पहली मोटर साइकिल को भी अभी तक अपने गैराज से बाहर नहीं किया है।  वैसे, वे भी अरबपतियों की गिनती में आते हैं। उनकी कुल सम्पत्ति वर्तमान में 123 करोड़ 85 लाख 12 हजार 136 रुपए है। जबकि, हेमामालिनी 1 अरब 1 करोड़ 95 लाख 300 रुपए की नकदी, गहने, फिक्स डिपाजिट, शेयर्स, कोठी बंगला की मालकिन हैं।

पांच वर्ष पूर्व उनकी इस सम्पत्ति का मूल्य 66 करोड़ 65 लाख 79 हजार 403 रुपए था। उनके द्वारा निर्वाचन आयोग को दिए गए विवरण के अनुसार उन पर 6 करोड़ 75 लाख 710 तथा पति पर 7 करोड़, 37 लाख, 52 हजार 352 का कर्ज भी है। जिसमें से बड़ा भाग उनके द्वारा जुहू विले पार्ले स्कीम में उनके बंगले को बनाने के लिए लिए गए कर्ज का हिस्सा है।  इस निवेश का उन्हें लाभ भी मिला है। जमीन की कीमत और लागत के बाद अब उनका बंगला कुल 58 करोड़ से बढ़कर करीबन 1 अरब की कीमत का हो गया है। बीते पांच वर्षों में दोनों की कुल सम्पत्ति में 71 लाख रुपए की वृद्धि हुई है।  मात्र नौ वर्ष की उम्र में नृत्य शिक्षा के लिए औपचारिक शिक्षा से अलग कर दी गईं हेमामालिनी ने हालांकि बाद में मैट्रिक तक शिक्षा पूर्ण की लेकिन यह भी सही है कि वे वर्ष 2012 में उदयपुर स्थित सर पदमपति सिंघानिया विवि से डाक्टर आफ फिलासफी की मानद उपाधि हासिल कर चुकी हैं।

इससे पूर्व वर्ष 2000 में उन्हें कला के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए भारत सरकार द्वारा पद्मश्री सम्मान से नवाजा जा चुका है। 2014 में मथुरा से लोकसभा के लिए चुने जाने से पूर्व भी वे 2003 से 2009 तक तथा 2011-2012 में राज्यसभा सदस्य रह चुकी हैं। इस बीच वे संसद की विदेश, परिवहन, पर्यटन, संस्कृति, महिला सशक्तिकरण, सूचना एवं प्रसारण, उद्योग, भारी उद्योग, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम एवं शहरी विकास व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालयों की समितियों की सदस्य भी रही हैं। इसके अलावा वे वर्ष 2002-03 में राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम की अध्यक्ष भी रहीं।