6 महीने बाद सामने आए डिंडोरी के लापता तहसीलदार, कहा- मैं तो यहीं था

जबलपुर: पिछले 6 महीने से लापता बताए जाने वाले डिंडोरी में पदस्थ तहसीलदार विवेक त्रिपाठी आखिरकार मीडिया के रुबरु हुए। उन्होंने अपने लापता होने की सारी बातों को नकारते हुए कहा कि जिस तरह से मीडिया में मुझे गायब बताया जा रहा है ये बहुत ही सरप्राइजिंग है मेरे लिए। मैं कलेक्टर मैडम के हर लेटर का जवाब दे रहा हूँ इतना ही नही सारे मेडिकल सर्टिफिकेट डीएम मैडम को भेजे गए है, एक प्रॉपर चैनल कलेक्टर ओर अधिकारियों का वो सब चल रहा है उसके बाद अचानक आज मीडिया का हमला हो जाता है। मुझे लापता बताया जा रहा है।

अपना पक्ष रखते हुए तहसीलदार विवेक त्रिपाठी कि मैंने 2018 अक्टूबर को ज्वाइन किया था उसके बाद डिंडौरी में बीमार हो गया। मैं न्यूरो की समस्या से जूझ रहा हूं.इसकी सूचना प्रशासन को दी गयी थी। मुझे एक साजिश के तहत बदनाम किया जा रहा है। विवेक त्रिपाठी ने कहा वो आला अफसरों से इसकी शिकायत करेंगे। विवेक त्रिपाठी लंबे समय से अपनी ड्यूटी से गैरहाजिर थे जिसके बाद डिंडौरी कलेक्टर सुरभि गुप्ता ने जबलपुर डीएम और एसपी को पत्र लिखकर उनका पता तलाश करने की गुजारिश की थी। इस पर जबलपुर कलेक्टर छवि भारद्वाज ने मामले की पतासाजी करने का आश्वासन दिया था।