हड़ताल की धमकी के बाद Jet Airways ने कहा- दिसंबर की सैलरी जल्द दी जाएगी

कर्ज के बोझ तले दबे जेट एयरवेज ने शनिवार को अपने पायलटों और मेंटिनेंस स्टाफ को दिसंबर की बाकी 87.5 फीसदी सैलरी देने का आश्वासन दिया है। जेट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विनय दुबे ने कर्मचारियों को भेजे एक ईमेल में कहा, ‘आपको हमारी प्रतिबद्धता है कि निदेशक मंडल और प्रबंधन टीम भारतीय बैंकों के समूह के साथ सहमति से तय की गई समाधान योजना को जल्द से जल्द लागू करने की दिशा में काम कर रही है जिससे जल्द ही परिचालन को बहाल किया जाएगा और एयरलाइन का टिकाउ भविष्य का निर्माण होगा।’

दिसंबर 2018 की सैलरी देगी कंपनी
उन्होंने कहा, ‘यह जटिल प्रक्रिया है और इसमें हमारी उम्मीद से अधिक समय लगा है और हम आपकी सिर्फ दिसंबर 2018 का बाकी वेतन देने में सक्षम हैं। हम मानते हैं कि आप सब को कठिनाइयों से जूझना पड़ रहा है और हम आपके त्याग की अहमियत कम नहीं होने देंगे।’ दुबे ने कहा, ‘हम जल्द अतिरिक्त फंडिंग के लिए काम कर रहे हैं और आपको बाकी वेतन के बारे में बताना चाहते हैं कि जैसे फंड आएगा उसका भुगतान किया जाएगा।’

जेट एयरवेज पायलट यूनियन के सदस्यों ने असहयोग करने का आह्वान किया था। उनका कहना था कि उनके बकाए और कंपनी की समाधान योजना पर स्पष्टता नहीं होने पर 31 मार्च से वह विमान परिचालन से दूर रहेंगे। हालांकि एयरलाइन ने कहा कि उसके पास परिचालन के लिए पर्याप्त पायलट हैं। एक अधिकारी ने कहा, ‘सोमवार को परिचालन प्रभावित नहीं होगा।’

टल सकता है सामूहिक अवकाश
उधर, जेट एयरवेज के अधिकांश पायलटों ने कहा कि उनके बकाए के भुगतान को लेकर भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की ओर से आश्वसन मिलने पर ही उनका सामूहिक अवकाश पर जाने का फैसला टल सकता है। एक वरिष्ठ पायलट ने बताया, ‘हमें एसबीआई की अगुवाई में नए प्रबंधन से सीधा आश्वासन चाहिए। हमें इस बात का आश्वासन चाहिए कि किस तारीख को हमारे बकाए का भुगतान होगा और हमें एयरलाइन के भविष्य के बारे में भी स्पष्टता की दरकार है। अगर इस तरह का आश्वासन दिया जाता है तो सामूहिक अवकाश के मसले पर हम दोबारा विचार कर सकते हैं।’