इंडिया ओपन में बेहतर प्रदर्शन के बाद श्रीकांत की नजरें मलेशिया ओपन पर

कुआलालंपुर : इंडिया ओपन में शानदार प्रदर्शन कर फाइनल तक का सफर तय करने वाले भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत की नजरें मलेशिया ओपन पर होगी जो यहां मंगलवार से शुरू हो रहा है। सात लाख डालर इनामी राशि वाले इस टूर्नामेंट को जीतकर श्रीकांत खिताबी सूखे को भी खत्म करना चाहेंगे। उन्होंने अपना पिछला खिताब 2017 में फ्रेंच ओपन के रूप में जीता था।

उन्होंने इंडिया ओपन के फाइनल में पहुंचकर लय में वापसी के संकेत दिए। रविवार को इस खिताबी मुकाबले में वह हालांकि डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसेन की चुनौती से पार नहीं पा सके। फाइनल में हार के बावजूद भी उनके लिए यह टूर्नामेंट शानदार रहा। वह 17 महीने बाद बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर प्रतियोगिता के फाइनल में पहुंचे। मलेशिया के दिग्गज ली चोंग वेई के टूर्नामेंट से नाम वापस लेने के बाद श्रीकांत बुधवार को क्वालीफायर खिलाड़ी के खिलाफ अपने अभियान का आगाज करेंगे।

श्रीकांत ने कहा, ‘पिछले सप्ताह के खेल से मैं खुश हूं। मैं इसे जारी रखना चाहता हूं। मुझे पता है कि ज्यादातर मैचों में मैं पिछड़ रहा था लेकिन मैं इस तरह लय हासिल करना चाहता था।’ इंडिया ओपन में सेमीफाइनल तक का सफर तय करने वाली ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधू मलेशिया ओपन के पहले दौर में जापान की आया ओहोरी से भिड़ेंगी। इस दौर पर जीतने के बाद दूसरे दौर में उनका सामना कोरिया की सुंग जी ह्यून से हो सकता है। ह्यून ने उन्हें आल इंग्लैंड चैम्पियनशिप के पहले दौर में हराया था।

पेट में तकलीफ के कारण स्विस ओपन और इंडिया ओपन से दूर रही इंडोनेशिया ओपन की चैम्पियन साइना नेहवाल को इस टूर्नामेंट के पहले दौर में थाईलैंड की पोर्नपावी शोशुवोंग की चुनौती से पार पाना होगा। एचएच प्रणय ने भी इंडिया ओपन में क्वार्टरफाइनल का सफर तय किया था और वह अपनी फार्म को यहां भी जारी रखना चाहेंगे। समीर वर्मा को हालांकि पहले दौर में विश्व रैंकिंग में दूसरे नंबर के चीन के खिलाड़ी शी युकी की चुनौती से पार पाना होगा। पुरूष युगल में मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी के अलावा महिला युगल में अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी भारतीय चुनौती पेश करेगी। मिश्रित युगल में प्रणव जेरी चोपड़ा और सिक्की के प्रदर्शन पर नजरें होगी।