पुलिस ने मजदूरों का वेश धर पत्नी की हत्या के आरोपी को दबोचा, 2 माह से था गायब

बारां। बारां में पुलिस ने पत्नी की हत्या के आरोपी को शुक्रवार को बड़े ही नाटकीय अंदाज में दबोच लिया। आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस ने मजदूरों का वेश धारण किया। पुलिस दो माह से उसकी तलाश में थी। आरोपी ने अपनी बच्ची के सामने ही उसकी मां को मारने-पीटने के बाद पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया था। पीड़िता को कोटा के अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उसने दम तोड़ दिया था।

बारां थानाधिकारी यशोराज मीणा ने बताया कि कोटा रोड की गणेश कॉलोनी निवासी बादल नरवाल उर्फ ओमभजन पर गत पांच जनवरी को एएनएम पत्नी सनिला (45) की पेट्रोल डालकर हत्या करने का आरोप था। हत्या के बाद से ओमभजन गायब था। पुलिस उसकी तलाश में थी और कई जगह छापे मारे थे, लेकिन वह बच निकलने में कामयाब हो जाता था।

पुलिस को सूचना मिली की ओमभजन नेहरूनगर स्थित अपनी मां के घर आने वाला है। इस पर पुलिस ने जाल बिछा दिया और मजदूरों के वेश में पुलिसकर्मी तैनात कर दिए। ओमभजन जैसे ही वहां पहुंचा पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

यह था मामला

बादल व सलीना की बेटी अनामिका ने पुलिस को बताया कि वह घर पर सो रही थी। छोटा भाई बाहर खेल रहा था। तभी उसके पिता और मां में झगड़ा शुरू हो गया। पिता ने मां को मारा-पीटा व पेट्रोल डालकर आग लगा दी। दोनों में आए दिन झगड़ा होता रहता था इसलिए मैं रोजाना की बात समझकर सो गई। कुछ देर बाद मां के चीखने की आवाज आई। मैंने देखा की पापा लोहे की रॉड से मां को पीट रहे थे। इसके बाद पापा ने उसके सामने ही मां पर पेट्रोल डाल दिया और आग लगा दी। इसके बाद वे वहां से चले गए। मैंने मां को बाचाने का प्रयास किया तो मेरा हाथ भी जल गया। मैं छोटे भाई के साथ मां को लेकर अस्पताल पहुंची।