मिशन 2019: कांग्रेस का ‘जन आवाज’ घोषणापत्र जारी, जानिए 5 बड़ी बातें

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को पार्टी का घोषणापत्र जारी किया जिसमें न्यूनतम आय योजना (न्याय) और स्वास्थ्य के अधिकार के साथ किसान कल्याण तथा दलितों एवं ओबोसी समुदायों के लिए कई प्रमुख वादे शामिल हैं। गांधी ने संप्रग प्रमुख सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, कोषाध्यक्ष अहमद पटेल, घोषणापत्र समिति के प्रमुख पी चिदंबरम और पार्टी के कई अन्य वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में घोषणा पत्र जारी किया। कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र को ‘जन आवाज’ का नाम दिया है जबकि इसके कवर पेज पर लिखा है ‘हम निभाएंगे’। राहुल ने कहा कि हमारे घोषणापत्र में सिर्फ पांच बातों पर फोकस है- गरीबी पर वार, रोजगार, किसान, शिक्षा, स्वास्थ्यऔर सुरक्षा।
कांग्रेस के घोषणापत्र की बड़ी बातें

  • घोषणापत्र का पहला वादा गरीबी पर वार। सबसे पहले बात न्याय की आय, जिसके जरिए सभी के खातों में पैसा डाले जाएंगे, “गरीबी पर वार, 72 हजार” ये पैसे हर साल दिए जाएंगे। इससे सीधे तौर पर अर्थव्यवस्था को फायदा मिलेगा।
  • हमारी सरकार 2020 तक 22 लाख सरकारी पद भरेगी। 10 लाख युवाओं को ग्राम पंचायत में रोजगार दिया जाएगा। मनरोगा में भी 150 दिन के रोजगार की गारंटी होगी। युवाओं को रोजगार के लिए 3 साल तक अनुमति की जरूरत नहीं होगी। रोजगार देने वालों को भी हमारी सरकार मदद देगी।
  • किसानों के लिए अलग से बजट लाया जाएगा ताकि उन्हें पता चल सके कि उनके लिए कितना खर्च हो रहा है। अगर किसान कर्ज नहीं चुका पाते हैं तो उन पर आपराधिक मुकद्दमा नहीं चलेगा बल्कि सिविल मुकदमा के तहत आएगा।
  • शिक्षा के लिए राहुल ने कहा कि हम 6 फीसदी से अधिक शिक्षा पर खर्च करेंगे।
  • राहुल ने कहा कि हम प्राइवेट इंशोरेंस भरोसा नहीं करते हैं, गरीब व्यक्ति को भी हाई क्वालिटी अस्पताल का एक्सेस हो। हम सरकारी अस्पतालों को और मजबूत करेंगे। इसके साथ ही देश की राष्ट्रीय सुरक्षा और आतंरिक सुरक्षा पर कांग्रेस का पूरा फोकस होगा।

घोषणापत्र में ‘आपके मन की बात’: राहुल गांधी
राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में आपके मन की बात है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यह घोषणापत्र कोई एक-दो महीनों में तैयार नहीं किया गया है बल्कि हमने एक साल पहले इसके लिए प्रक्रिया की शुरुआत की थी। हमने पी चिदंबरम और राजीव गौड़ा से कहा था कि यह घोषणापत्र देश की जनता की राय होनी चाहिए। राहुल ने कहा कि घोषणापत्र में किया गया हर वादा हम निभाएंगे क्योंकि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरह बंद दरवाजे के अंदर नहीं बल्कि लोगों की राय से तैयार किया गया है। प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवारी पर राहुल गांधी ने कहा कि मैं सिर्फ अपनी बात करता हूं, ये देश के ऊपर है कि वो क्या सोचते हैं। राहुल ने कहा कि इस चुनाव का नेरेटिव सैट हो गया है, जो गरीबी और रोजगार पर है। देश का प्रधानमंत्री किसी भी तरह से पीछे नहीं छुप नहीं सकता है, उन्होंने कहा कि चौकीदार छुप सकता है लेकिन भाग नहीं सकता है।

इससे पहले चिदंबरम ने कहा कि कांग्रेस का मैनीफिस्टो समाज के हर वर्ग के लिए है क्योंकि इसमें सभी का ध्यान रखा गया है। कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी घोषणापत्र के जारी होने पर मौजूद रहीं। वे इस दौरान पार्टी के अन्य नेताओं के साथ मंच के नीचे बैठी।