लोकसभा चुनाव को लेकर कुछ भी बोलने से कतराते रहे नसीरुद्दीन शाह

युधिष्ठिर भूदंड 

जोधपुर. अपने बेबाक बयानों को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले फिल्म कलाकार नसीरुद्दीन शाह सोमवार को जोधपुर में देश की राजनीति और चुनाव को लेकर कुछ भी बोलने से कतराते नजर आए। उन्होंने इस बारे में कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। नसीरुद्दीन एक वेबसीरिज की शूटिंग में हिस्सा लेने के लिए तीन दिन के लिए सोमवार को अपनी पत्नी संग जोधपुर पहुंचे।

एयरपोर्ट से बाहर निकले नसीर काफी प्रसन्न नजर आ रहे थे। उन्होंने पत्रकारों के साथ राजस्थान से जुड़े अपने कुछ अनुभव शेयर किए और कहा कि यहां आना उन्हें शुरू से ही अच्छा लगता है। अजमेर में काफी बरस रहकर मैने शिक्षा हासिल की है। इसके बाद लोकसभा चुनाव व राजनीति को लेकर पूछे गए सवाल पर कुछ बोलने से इनकार करते हुए वे आगे बढ़ गए।

उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले नसीरुद्दीन शाह ने देश में मुस्लिमों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था एक पुलिस इंस्पेक्टर की मौत से ज्यादा एक गाय की मौत को अहमियत दी जा रही है और ऐसे माहौल में मुझे अपनी औलादों के बारे में सोचकर फिक्र होती है। वह कहते हैं कि देश के माहौल में काफी जहर फैल चुका है और इस जिन्न को बोतल में डालना मुश्किल दिख रहा है। मुझे डर लगता है कि कल को मेरे बच्चे बाहर निकलेंगे तो भीड़ उन्हें घेरकर पूछ सकती है कि तुम कौन हो? हिंदू या मुसलमान? ऐसे में वह क्या जवाब देंगे? इस स्थिति में सुधार की जरूरत है और जिन्न को बोतल में बंद करना होगा।

एक इंटरव्यू के दौरान कही गई इन बातों का विडियो नसीरुद्दीन शाह ने खुद भी अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया था, जिसके बाद उनकी आलोचना होना शुरू हो गई थी। इस विरोध के चलते अजमेर साहित्य महोत्सव में होने वाले ऐक्टर के कार्यक्रम को भी रद्द करना पड़ा था।