मोदी सरकार की नीतियों से देश के आर्थिक ढांचे को नुकसान: सिब्बल

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा कि पिछले पांच वर्षाें में मोदी सरकार की नीतियों से देश का आर्थिक ढांचा पूरी तरह से चरमरा गया है। सिब्बल ने लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस का घोषणापत्र जारी करने के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि गत पांच वर्षों में मध्यम, लघु एवं सूक्ष्म उद्योग (एमएसएमई) क्षेत्र को काफी नुकसान झेलना पड़ा है और यह संकट की स्थिति में पहुंच गया है।

मोदी राज में रोजगार हुआ समाप्त  
कांग्रेस नेता ने कहा कि सभी सेक्टरों में साख की स्थिति में एक नयी गिरावट आयी है तथा सामाजित न्याय सामाजिक अन्याय का रूप ले चुका है। उन्होंने आर्थिक समृद्धता और सामाजिक सशक्तिकरण को देश के दो स्तंभ बताते हुए कहा कि पिछले पांच वर्षों में एमएसएमई सेक्टर में संकट के साथ ही दलितों की मॉब लींचिंग और 36 हजार से अधिक किसानों की आत्महत्या की घटनायें बढ़ी है तथा 1 करोड़ 10 लाख रोजगार समाप्त हो गये।

मोदी ने वादे नहीं किए पूरे 
सिब्बल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘अच्छे दिनों’ के बारे में बोलना ही छोड़ दिया है, क्योंकि वह जानते हैं कि अब इस पर कहने से कुछ होना नहीं है। उन्होंने कहा कि नागरिकों के खाते में 15 लाख रूपये जमा किये जाने की बात सबसे बड़ा झूठ साबित हुई है। इसीलिए कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए ‘ कांग्रेस वादा निभायेगी, हम जो कहेंगे, उसे पूरा करेंगे ’ शीर्षक से घोषणापत्र जारी किया है।