घोषणा पत्र पर टिप्पणी करने से भड़के जीतू पटवारी, बीजेपी विधायक को बताया मानसिक रोगी

भोपाल: लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस द्वारा जारी किए गए चुनावी घोषणापत्र पर बीजेपी लगातार सवाल उठा रही है। लेकिन कांग्रेस नेता भी इन हमलों का जवाब देने में पीछे नहीं है। प्रदेश के खेल मंत्री जीतू पटवारी ने बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा के घोषणापत्र को आतंकवादी घोषणा पत्र बताए जाने वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि बीजेपी नेता मानसिक तौर पर बीमार हो गए हैं, ऐसे नेताओं को सबसे पहले अपना उपचार कराना चाहिए।

पटवारी ने रामेश्वर पर हमला करते हुए कहा कि गर्मी बहुत है तो थोड़ा ठंडक में बैठे ताकि दिमाग ठंडा हो सके और बोलने से पहले सोचे कि किस पार्टी के लिए बोल रहे हैं। कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने आजादी के लिए शहादत दी है। इस तरह की वक्तव्य देना शोभा नहीं देता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर सवाल उठाते हुए पटवारी ने कहा कि झूठ बोलकर या गाली देकर बीजेपी आगे नहीं निकल सकती। बीजेपी के नेता तो इस बात का जवाब दें कि पीएम मोदी ने 5 सालों में किए कितने वादों को पूरा किया है-देश की जनता जानना चाहती है कि विकास के नाम पर जनता को क्या मिला है।

गौरतलब है कि बीजेपी के विधायक रामेश्वर शर्मा ने बुधवार को अपने बयान में कांग्रेस के घोषणापत्र पर सवालिया निशान उठाते हुए कहा था कि कांग्रेस ने घोषणा पत्र मसूद अहमद की सलाह से तैयार किया है। जनता को नसीहत देते हुए रामेश्वर शर्मा ने लोगों से कहा है कि सभी हिंदुस्तानी कांग्रेस के घोषणा पत्र को समझे और इसे बनाने वालों का चुनाव में मुंह काला कर उन्हें सबक सिखाएं। वहीं बीजेपी विधायक रमेश मंदोला ने भी घोषणा पत्र को राष्ट्र विरोधी तथा देश को तोड़ने वाला बताया था।