लोकसभा चुनावः काले धन पर EC का वार, अब तक 377 करोड़ रुपये जब्त

नई दिल्लीः लोकसभा चुनावों की तैयारियां जारी है। वहीं चुनाव आयोग ने भी अपनी कमर कस ली है और चुनावी मौसम में कालेधन पर शिकंजा जारी है। आचार संहिता लग जाने के बाद चुनाव आयोग ने तमिलनाडु के सलेम में एक बस से साढ़े तीन करोड़ रुपये बरामद किये हैं। अगर अलग-अलग जगहों की बात की जाए तो चुनाव आयोग ने अभी तक कई जगहों से करीब 377 करोड़ रुपए की राशि बरामद की है। इसके अलावा 157 करोड़ की शराब, 705 करोड़ रुपए की ड्रग्स और 312 करोड़ की कीमती धातुएं बरामद का जा चुकी हैं।

बताया जा रहा है कि तमिनाडु में बस तिरुवन्नमलई से आ रही थी। आयकर विभाग ने बताया कि बरामद रुपये किसकी है, इसकी हम जांच कर रहे हैं। तीन दिन पहले तमिलनाडु के वेल्लोर से इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने छापेमारी में एक सीमेंट गोदाम से 15 करोड़ रुपये बरामद किए थे। ये मामला कथित तौर पर एक DMK नेता से जुड़ा हुआ बताया जा रहा था। हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हो पाई थी। वहीं पुलिस ने चित्तूर में 39 लाख रुपये जब्त किये गए। मामले की जांच आयकर विभाग को सौंप दी गई है।

नोएडा में भी कैश जब्त

आदर्श आचार संहिता को लागू कराने के उद्देश्य से बनाई गई स्टेटिक सर्विलांस टीम ने बुधवार को चेकिंग के दौरान एक फॉरूचूनर कार से 18 लाख 40 हजार रुपए बरामद किए। इस मामले की जानकारी आयकर विभाग को दे दी गई है।

पूर्वोत्तर में 1.96 करोड़ रुपये नकद जब्त

लोकसभा चुनाव से पहले पूर्वोत्तर में बैंकों में संदिग्ध जमा और निकासी हो रही है। आयकर विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को यह बात कही। आदर्श आचार संहिता के 10 मार्च को लागू होने के बाद से पूरे क्षेत्र मे कम-से-कम 1.96 करोड़ रुपये नकद जब्त किये गये हैं। आयकर विभाग के प्रधान निदेशक (जांच) संजय बहादुर ने कहा कि 112 जिलों और 12 हवाई अड्डों की निगरानी के लिए पूरे पूवोत्तर में 150 से अधिक अधिकारी तैनात किये गये हैं। अधिकारी ने कहा कि संदिग्ध नकदी लेनदेन को छिपाने के लिए बैंकों को सुरक्षित माध्यम के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है, जो पांच बड़े बैंकों से 10 दिनों के डेटा हासिल करने के बाद प्रकाश में आया।