नेशनल एर्वाड पाकर रमा शर्मा ने राजस्थान का नाम रोशन किया

अजयशेखर शर्मा बोंली –

चाकसू सी आई आई फाउंडेशन
(भारतीय उद्योग परिसंघ)
द्वारा दो दिवसीय वार्षिक उत्सव 2019 व नेशनल प्रतिभा सम्मान कार्यक्रम दिनाक 4-5अप्रेल गुड़गांव के होटल ताज में रखा गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली व वाणिज्य उद्योग और नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने की व संस्था के अध्यक्ष,सचिव कार्यकर्ता मौजूद रहे।
कार्यक्रम के लिए सम्पूर्ण भारत में से 350 महिलाओं के आवेदन प्राप्त हुए। जिसमे से चयनकर्ताओ ने केवल 15 प्रतिभा महिलाओ को काबिल मानते हुए पेनल में नाम रखा। और चार भागों में साक्षत्कार किया गया ।प्रथम फोनिक इंटरव्यू व व्यक्तिगत कार्यक्षेत्र में कार्य की प्रगति कार्य करने के तरीके समुदाय में लोगों से जुड़ाव एवम मोबलाइजेशन पर गहनता से पड़ताल करने के पश्चात इन 15 महिलाओ को शिक्षा,स्वस्थ्य,माइक्रो फाइनेंस व अन्य अलग अलग क्षेत्रो में काम करने में दक्षता में परिपक्व पाया है। मूलतःचाकसू की रहने वाली रमा शर्मा ने शिक्षा के क्षेत्र में कल्प संस्था की पहचान परियोजना द्वारा चाकसू,जयपुर निवाई,टोंक,बांसवाड़ा क्षेत्रो में कार्य कर शिक्षा से वंचित करीब 4000 हजार बालिकाओ को मुख्यधारा से जोड़ने का रिकॉर्ड बनाया है। इस अनूठे कार्य को लेकर आज शाल ओढ़ाकर व प्रशस्ति पत्र देकर नेशनल अवार्ड से नवाजा गया।रमा के वर्तमान कार्य क्षेत्र टोंक जिले के निवाई ब्लॉक व चाकसू वासियो को नेशनल अवार्ड की खबर मिलेते फ़ोन पर बढाईया देने का दौर शुरू हो गया। चारो और आज एक ही चर्चा हो रही है कि रमा ने ये नेशनल अवार्ड पाकर राजस्थान ,जिले व अपने परिवार एवम संस्था का नाम रोशन किया है।रमा से फोन पर बात करने पर बताया कि मैं जो कुछ कर रही हूँ उसके पीछे बालिका शिक्षा,महिला हिंसा माहिलाधिकारों, महिला सशक्तिकरण पर जोर देना है।और मैं निरन्तर इस मुहिम को जारी रखना चाहती हूँ।
कल्प संस्था सचिव ओम प्रकाश कुलहरि की माने तो रमा संस्था में 18 वर्षी से काम कर रही है। रमा सकारात्मक सोच रखते हुए विषम परिस्थितियों में भी अपनी दक्षताओं के चलते हार नही मानती और बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कई समुदायो में परिवर्तन कर के दिखाए है।आज रमा ने संस्था जगत का ही नही अपितु अपने राज्य,जिले व क्षेत्र का नाम रोशन किया है।मैं यही कहना चाहूंगा कि रमा आगे भी ईसी प्रकार संस्था परिवार व बालिकाओ के लिए प्रेरण बनकर काम करे।