ईवीएम की ऑपरेटिंग का पूछा तो जवाब मिला-बिजली नहीं थी, मशीन बंद है; कांताराव बोले- ऐसे ही इंतजाम जरूरी हैं

शिरीष सिलकारी 

सागर पहुंचने के बाद सीईओ सीधे कलेक्टाेरेट परिसर स्थित सर्किट हाउस पहुंचे। यहां उन्होंने जिला निर्वाचन अधिकारी प्रीति मैथिल नायक की अगुवाई में आयाेजित महिला साइकिल रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह रैली आर्टस एंड कॉमर्स कॉलेज तक गई। इसके बाद वे कलेक्टर कार्यालय के सामने बने मॉडल पोलिंग स्टेशन का मुआयना करने गए। वहां उन्होंने मतदान दल के सदस्यों से ईवीएम की ऑपरेटिंग के बारे में पूछा ताे उन्होंने जवाब दिया कि बिजली नहींं थी, इसलिए मशीन बंद है। जवाब में कांताराव ने कहा कि हमें यही छोटे लेकिन जरूरी इंतजाम कर के रखना है। उन्होंने वहां मौजूद स्काउट एंड गाइड की युवतियों से परिचय लिया और चुनाव में उनकी भूमिका पूछी। युवतियों का ड्यूटी के प्रति जज्बा देख उन्हें शाबासी भी दी।

50 हजार रु. से ज्यादा पकड़े गए तो होगी जांच, इस बार अब तक 15 करोड़ पकड़े

सीईओ कांताराव ने कहा कि चुनाव में नकद राशि का लेन-देन नहीं हो। इसके लिए हमारी एफएसटी टीम जिलावार कार्रवाइयां कर रही है। पिछले लोकसभा चुनाव की 52 दिन की कार्रवाई में हमारे द्वारा 14 करोड़ रुपए पकड़े गए थे जबकि हम लोगों ने नामांकन प्रक्रिया शुरू होने के पहले ही 15 करोड़ रुपए पकड़ लिए हैं। उन्होंने कहा कि जो भी राशि पकड़ी जाएगी उसके बारेे में अगर संबंधित व्यक्ति उचित दस्तावेज पेश नहीं करता है तो फिर आगे की जांच के लिए वह राशि इनकम टैक्स विभाग के हवाले कर दी जाएगी। आईटी को 7 दिन में जांच कर उस प्रकरण का निपटारा करना होगा। टोल फ्री नंबर : आईटी विभाग का एक टोल फ्री नंबर 180002330039 दिया गया है, जिस पर कॉल कर लाेग पकड़ी गई राशि के बारे में जानकारी ले सकते हैं।

जनप्रतिनिधि पुलिस-प्रशासन पर दबाव नहीं बना सकते

सीईओ ने कहा कि आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद अगर कोई जनप्रतिनिधि पुलिस-प्रशासन पर व्यक्तिगत या अन्य स्रोत से किसी कार्य के लिए दबाव बनाता है तो उसके बारे में पीड़ित पक्ष सीधे मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में शिकायत कर सकता है। इससे पहले उन्होंने बताया कि चुनाव में शासन के करीब 20 हजार वाहन इस्तेमाल होंगे। पारदर्शिता बनाए रखने के लिए इनमें जीपीएस लगाया जाएगा। बैठक के आखिर में सीईओ ने बुजुर्ग व दिव्यांग मतदाताओं के लिए बनाई गई शार्ट फिल्म का लोकार्पण किया। इस फिल्म में बाल कलाकारों के माध्यम से मतदाता जागरूकता की अपील की गई है। कलाकारों में मोक्षा, शुभी नेमा, डाली, अथर्व शुक्ला, अविरल नेमा आदि हैं। निर्देशन अतीश नेमा-गिरिश कान्त ने किया है।

ईवीएम-वीवीपेट की हैंडलिंग में निर्देशों का पालन हो

सीईओ कांताराव ने सात लोकसभा क्षेत्रों से आए कमिश्नर, आईजी व कलेक्टर-एसपी के साथ बैठक में चुनावी तैयारियों पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन का अक्षरश: पालन किया जाए। बैठक में भारत निर्वाचन आयोग के अवर सचिव संतोष कुमार अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अरूण कुमार तोमर संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अभिजीत अग्रवाल, आईजी कानून व्यवस्था योगेश चौधरी, आईजी निर्वाचन व्यय अनन्त कुमार सिंह आईजी नारकोटिक्स जीजी पांडेय संयुक्त निदेशक आयकर प्रशांत कुमार मिश्रा आबकारी आयुक्त रजनीश श्रीवास्तव सहित सागर रीवा व नर्मदापुरम सम्भाग के संभागायुक्त, पुलिस महानिरीक्षक और 11 जिलों के कलेक्टर एवं एसपी मौजूद थे। जहां अशांति की आशंका हो वहां तत्काल प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करें : सीईओ ने कलेक्टर्स से कहा कि आप लोग चुनावी काम में किसी तरह की काेताही नहीं करें। जिस किसी भी बूथ पर अशांति की शंका हो, वहां संबंधित व्यक्ति पर तत्काल प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करें। पड़ोसी राज्यों से आने-जाने वाले संदेहास्पद व्यक्तियों व वाहनों की सख्ती से चेकिंग करें।