5 सालों में आप ने चौकीदार का साथ दिया, उसके लिए शीश झुका कर धन्यवाद: PM मोदी

अमरोहा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमरोहा में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि देश भर में जो लहर चल रही है वो लहर आज हमें अमरोहा में भी दिखाई दे रही है। बीते 5 सालों में आप ने इस चौकीदार का साथ दिया, उसके लिए शीश झुका कर धन्यवाद। कल ही आपके इस प्रधानसेवक को संयुक्त अरब अमीरात ने वहां का सर्वोच्च नागरिक सम्मान-जायद मेडल देने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि मैं यूएई की सरकार और वहां की जनता का हृदय से आभार व्यक्त करता हूं। ये सम्मान मोदी का नहीं है, बल्कि 130 करोड़ भारतीयों का है, खाड़ी देशों के विकास में योगदान दे रहे लाखों भारतीयों का है। देश की साख रहे, इसके लिए मजबूत सरकार का होना बहुत जरूरी है। मजबूत सरकार ही कड़े और बड़े फैसले ले पाती है, देश को आगे बढ़ा पाती है। आतंकियों को उन्हीं की भाषा में जवाब देना, कुछ लोगों को पसंद नहीं आ रहा। जब भारत डंके की चोट पर दुश्मन को मारता है, तब कुछ लोग भारत में रो रहे हैं।

जब पाकिस्तान पूरी दुनिया के सामने बेनकाब हो रहा है, तो ये पाकिस्तान के पक्ष की बातें कर रहे हैं, वहां पर हीरो बन रहे हैं। कांग्रेस हो, समाजवादी पार्टी हो, बहुजन समाज पार्टी हो, आतंकवाद पर नर्म रवैये की वजह से कुछ लोगों के हौसले बुलंद हुए हैं। इन दलों ने सिर्फ आतंक की ही मदद नहीं दी है, इन्होंने आपके जीवन, आपके अस्तित्व को भी संकट में भी डालने का काम किया है। उन दिनों को याद कीजिए, जब उत्तर प्रदेश में सपा की सरकार थी, बसपा की सरकार थी, दिल्ली में कांग्रेस की सरकार थी तब क्या होता था।

उन्होंने कहा कि कभी लखनऊ में धमाके होते थे, कभी रामलला की जन्मभूमि अयोध्या में धमाके होते थे, कभी भगवान भोलेनाथ की नगरी काशी को दहला दिया जाता था, कभी रामपुर के CRPF कैंप पर हमला हो जाता था। अक्सर इन हमलों के तार यूपी के अलग-अलग इलाकों तक जाते थे। देश की एजेंसियां बहुत मेहनत से उन हमलों में शामिल लोगों को पकड़ती थीं। लेकिन वोटबैंक की अपनी सियासत की वजह से बुआ-बबुआ की सरकारें उन्हें छोड़ देती थीं।

मोदी ने कहा कि 5 वर्षों से धमाके रुक गए क्योंकि दिल्ली में आपने साफ नीयत वाला चौकीदार बिठा दिया है। आतंकियों को पता है कि वो एक गलती करेंगे तो मोदी उन्हें पाताल में भी खोजकर सज़ा देगा। मोदी आतंक को वोटबैंक से नहीं तौलता, तभी आतंक के मददगार आज जेल में बंद हैं। देश को आगे बढ़ाना है तो हम सब को मिलकर साथ चलना होगा। कुछ लोग हैं जो देश को बांटने की कोशिश कर रहे हैं, अलग-अलग जातियों के नाम पर अलग करने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे लोगों के स्वार्थ को समझिए।

सिर्फ एक परिवार की पहचान बनाने के लिए प्रतिष्ठा के लिए, एक परिवार के स्वार्थ की सिद्धि के लिए कांग्रेस ने बाबा साहेब आंबेडकर का भी अपमान किया था। कांग्रेस ने उन्हें चुनाव में हराया था, देश के प्रति बाबा साहेब के योगदान को भुलाने की साजिश रची थी। बाबा साहेब ने उस परिवार को चुनौती थी, इसलिए बाद की पीढ़ियों ने भी बाबा साहेब से निरंतर बदला लिया। वो तो आज वोटबैंक की मजबूरी है, जो कांग्रेस बाबा साहेब का नाम लेती है, वरना ये वही कांग्रेस है जिसने दशकों तक उनकी फोटो तक संसद में लगने नहीं दी थीष उसी दौर में हमारे देश में एक और महान नेता हुए थे जोगेंद्र नाथ मंडल। आपने उनका नाम नहीं सुना क्योंकि आजादी के बाद की कांग्रेस सरकारों ने उनके इतिहास को भी आपके सामने नहीं आने दिया।