अंधविश्वास और लालच में पहले पड़ोसी के बच्चे को किया अगवा, फिर अमावस्या की रात में दे दी बलि

श्रीमती विजय लक्ष्मी श्रीवास्तव

उन्नाव,  माखी थाना क्षेत्र में दिल दहला देने वाली वारदात सामने आने के बाद सनसनी फैल गई। घर में अकूत संपत्ति गड़े होने का सपना सच मानकर महिला ने लालच और अंधविश्वास में पति व बेटों की मदद से पड़ोसी के बच्चे को अगवा कर गुरुवार रात 12 बजे के बाद अमावस्या लगने पर उसकी बलि दे दी। गुनाह छिपाने के लिए शव को पास के तालाब में दफना दिया। शुक्रवार सुबह सूअर के नोचने पर शव बाहर आया तो परिवार में कोहराम मच गया। पुलिस हत्यारोपित महिला उसके पति और बच्चों समेत सात लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की है। गांव में तनाव को देखते हुए फोर्स तैनात किया गया है।

संपत्ति के लालच में की हत्या
आरोपित विश्राम ने बताया कि संपत्ति के लालच में उसने पत्नी बच्चों के साथ मिलकर बुधवार को बच्चे का अपहरण किया और शुक्रवार रात 12 बजे अमावस्या लगते ही बच्चे की बलि दे दी। सीओ गौरव त्रिपाठी ने मामला बलि से जुड़ा बताया है। कहा कि विश्राम उसकी पत्नी-बच्चों समेत सात लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा

गले में कील ठोंकने के साथ सरिया घोपी
हत्यारोपितों ने बच्चे के गले में पतली कील ठोंकने के साथ एक सरिया भी घोपी। एक कान काटने के साथ कुछ बाल, बाल की चोटी काटी और शरीर के कुछ हिस्से को जलाया भी।