MP में आग की चपेट में 84 गांव, सैंकड़ों एकड़ फसल स्वाह, 3 की मौत 25 झुलसे

होशंगाबाद: जिले में शुक्रवार को मौसम में अचानक आए बदलाव से तबाही सा मंजर देखने को मिला।  खेत में नरवाई में लगी आग के ऊपर तेज हवा ने घी का काम किया। देखते ही देखते आग का तांडव होने लगा। चारों तरफ आग ही आग फैल गई और विकराल रूप धारण कर लिया। एक तरफ जहां सैंकड़ों एकड़ की खड़ी फसल जलकर ख़ाक हो गई। वहीं जिले के करीब 84 गांव आग की चपेट में आ गए हैं। आग की चपेट में आने से करीब दो दर्जन से अधिक लोग झुलस गए हैं और एक व्यक्ति की मौत हो गई है, जबकि एक व्यक्ति लापता बताया जा रहा है।जिला अस्पताल में अफरा तफरी का माहौल बना हुआ है, मौके पर भोपाल, होशंगाबाद समेत आसपास की 50 से अधिक फायर ब्रिगेड की गाड़ियां आग पर काबू पाने की कोशिश में जुटी हुई है।

जानकारी के अनुसार, हर रोज की तरह शुक्रवार को दिन औसम था कहीं कोई खतरा नजर नहीं आ रहा था। लेकिन शाम होते ही मौसम ने करवट बदली और कई जिलों में तेज आंधी का कहर देखने को मिला। जिससे कई शहरों में ब्लैक आउट की स्तिथि रही। होशंगाबाद में शाम को खेत में लगी आग भड़क गई और यह आग पांजरा, लोहारिया और ग्वाड़ी गांव तक पहुंच गई थी। आग से पूरा पांजरा, ग्वाड़ी, लोहारिया, तारारोड़ा गांव घिर गया था। पांजरा में आग से एक युवक और आधा दर्जन से ज्यादा मजदूर झुलस गए हैं। आग से घिरे पांजरा गांव का तवा नदी तरफ वाला हिस्सा खाली करा लिया गया था। ग्रामवासियों को पांजरा के मुख्य हिस्सा में पहुंचाया गया। यहां पूरा प्रशासन और गांव के लोग आग से बचने के प्रयास में जुटे रहे। पांजरा से लगे गांव ग्वाड़ी और लोहारिया भी आग से घिर गए थे। दहशत में गांव लोग छतों पर जाकर खड़े हो गए और आग बुझने का इंतजार कर रहे थे। आग को देखते हुए प्रशासन ने पांजरा-तवापुल मार्ग को रोक दिया था। इस रास्ते से वाहनों और लोगों को आगे नहीं जाने दिया गया।

आग इतनी भीषण थी कि गांव के लोग चीख चीखकर मदद की गुहार कर रहे थे। ग्वाड़ी और लोहारिया में गांव के अंदर आग फैल गई। हालात यह थे कि पांजरा में पूरी फायर बिग्रेड लगी थी ऐसे में दूसरे गांव तक मदद नहीं पहुंच रही है। वहीं इस आग की चपेट में आने से रैसलपुर का एक युवक झुलस गया है। रैसलपुर निवासी विवेक पिता दिलीप सिंह तोमर के खेत की नरवाई में आग लगी हुई थी। इस आग से विवेक के खेत का नलकूप भी जलने लगा इसे बचाने की कोशिश कर रहा विवेक स्वयं ही आग की चपेट में आ गया इससे उसके हाथ, पैर और चेहरा झुलसा है। वहीं दो अन्य लोगों के आग में जलने से मरने की खबर है।

इतना ही नहीं मौसम के कहर से बिजली विभाग की मुश्किलें भी बढ़ा दी। तेज़ आंधी के कारण बिजली विभाग की सप्लाई व्यवस्था ठप्प हो गई। 33 और 11 केबी में फाल्ट आने से पूरे शहर में ब्लैक आउट हो गया है। बिजली कंपनी का अमला फाल्ट तलाशने में लगा है।