लोकायुक्त की कार्रवाई, एसडीएम का रीडर रिश्वत लेते रंगे हाथों धराया

बुरहानपुर: प्रदेश में भ्रष्टाचार के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे। मोटी तन्खवाह लेने वाले अधिकारी लालच के चलते रिश्वत की मांग करने लगते है। यही लालच एक दिन उन्हें कानून के हत्थे चढ़ा देता है। ताजा मामलें में लोकायुक्त टीम ने नेपानगर एसडीएम के रीडर को 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। क्षेत्र में रोड़ निर्माण के दौरान पेड़ कटाई की नीलामी के एवज में आरोपी रीडर शिकायतकर्ता से रिश्वत मांग रहा था, जिसकी शिकायत लोकायुक्त को की गई थी।

जानकारी की अनुसार, शुक्रवार को इंदौर लोकायुक्त टीम ने नेपानगर एसडीएम के रीडर मोहन नीलकंठ को 50 हजार रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ धरदबोचा। लोकायुक्त की टीम को शिकायत की थी कि क्षेत्र में रोड़ निर्माण के दौरान पेड़ कटाई की नीलामी के एवज में आरोपी मोहन नीलकंठ ने शिकायतकर्ता संजय गाढे से 50  हजार की मांग की। हालांकि शिकायतकर्ता 13 हजार रूपए दे चुका था लेकिन फिर भी आरोपी मोहन उसे बकाया रकम के लिए परेशान करता था जिस पर आखिरकार तंग आकर संडय गाढे ने इंदौर लोकायुक्त को शिकायत की।

लोकायुक्त में शिकायत के बाद शुक्रवार को आरोपी को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी को पकड़ने में लोकायुक्त टीम के उप अधीक्षक प्रवीण सिंह बघेल, निरीक्षक राहुल गजभिये, सुनील उईके, आरक्षक विजय शेलार, पवन पटोरिया, आशीष नायडू व चालक शेरसिंह की भूमिका रही।