14 लाख की नौकरी छोड़ वर्णित ने UPSC में किया कमाल

पार्थो चक्रवर्ती 

बिलासपुर। पावर ग्रिड कार्पोरेशन ऑफ इंडिया में 14 लाख की नौकरी छोड़ने वाले शहर के लाडले वर्णित नेगी ने संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की परीक्षा में देशभर में 13वां स्थान हासिल किया है। वर्णित का कहना है कि माता-पिता की आज्ञा का पालन और अनुशासन से यह सफलता मिली है।

शुक्रवार की देर शाम परीक्षा परिणाम जारी होने के बाद अर्चना विहार नेहरू नगर में जश्न का माहौल है। घर में बधाई देने वालों का तांता लग गया है। वर्णित की सफलता से न केवल शहर बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ में खुशी की लहर है।

शासकीय हाईस्कूल परसदा, पाली कोरबा में प्राचार्य देवेन्द्र सिंह नेगी व जेएमपी कॉलेज तखतपुर में व्याख्याता डॉ.सीमा नेगी अपने बेटे की सफलता से गदगद है। नईदुनिया से खास बातचीत में बेटे की सफलता का राज खोला। कहा कि वर्णित फिलहाल दिल्ली में है। शनिवार को बिलासपुर पहुंचेगा।

वर्ष 2016 में उसने अपने पिता से कहा कि वह पावर ग्रिड की नौकरी छोड़ना चाहता है। कोटा व दिल्ली में रहकर यूपीएससी की तैयारी करना चाहता है। पिता ने अनुमति दी। रायपुर में पोस्टिंग होने के बाद भी नौकरी छोड़ दी। इसके बाद वह यूपीएससी की तैयारी में जुट गया।

आखिरकर शुक्रवार को सफलता ने शोर मचा दिया। यह परीक्षा देश में नौकरशाही के सर्वोच्च पदों के लिए आयोजित की जाती है। इस बार भारतीय प्रशासनिक सेवा (आइएएस) 180 पद, भारतीय विदेश सेवा (आइएफएस) के लिए 30 पद, भारतीय पुलिस सेवा (आइपीएस) के लिए 150 पद, सेंट्रल सर्विस ग्रुप ए के लिए 384 पद, ग्रुप बी सर्विस के लिए 68 पदों पर भर्ती होनी है।