सुलतानपुर लोकसभा सीट: मेनका गांधी-संजय सिंह में होगा रोचक मुकाबला

सुलतानपुर: यूपी की सुलतानपुर लोकसभा सीट से इस बार भाजपा ने केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी को टिकट दिया है। भाजपा के फायर ब्रैंड नेता रहे वरुण गांधी मौजूदा सांसद हैं। इसके पहले यहां से नेहरू-गांधी परिवार का कोई भी नेता सांसद नहीं रहा लेकिन अमेठी से लगी होने के कारण यह सीट हमेशा से चर्चा में रही है। 2009 में अमेठी के डॉ. संजय सिंह कांग्रेस के टिकट पर यहां से सांसद रह चुके हैं और इस बार कांग्रेस के टिकट पर वह दोबारा मैदान में हैं। मेनका गांधी-और डॉ. संजय सिंह के चुनावी समर में कूदने से यहां मुकाबला रोचक होगा।

सपा-बसपा गठबंधन से चंद्रभद्र सिंह 
सपा-बसपा गठबंधन से चंद्रभद्र सिंह सोनू चुनाव लड़ रहे हैं। वरुण गांधी को इस बार भाजपा ने पीलीभीत से उम्मीदवार बनाया है। राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि इस बार सांसद वरुण गांधी से लोगों की नाराजगी के कारण यहां के समीकरण बदले हुए नजर आ रहे हैं। हालांकि इन सबके बाद भी ‘मोदी फैक्टर’ काम कर सकता है। मेनका को टिकट देकर भाजपा ने लोगों की नाराजगी को कुछ कम करने का प्रयास जरूर किया है और मुकाबले को रोचक बना दिया है।

वोटर का मूड 
सुलतानपुर में हमेशा से ही जातीय समीकरण हावी रहे हैं, हालांकि उद्योग धंधों के नाम पर यहां मात्र एक चीनी मिल है, जो खस्ताहाल है। मेनका गांधी ने 2014 में बेटे वरुण के साथ रैली में इसे दुरुस्त करने का वादा किया था लेकिन वह पूरा नहीं हो सका। अब वह खुद चुनावी मैदान में हैं तो लोग उनसे जरूर सवाल पूछेंगे।