दिल्ली में गठबंधन के लिए कांग्रेस और आप में सहमति के आसार

नई दिल्ली: दिल्ली की सात लोकसभा सीटों के लिए कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) के बीच गठबंधन को लेकर पिछले काफी दिनों से चल रही खींचतान के बाद सहमति बनती नजर आ रही है। पार्टी के दिल्ली मामलों के प्रभारी पी सी चाको और प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित समेत कई अन्य वरिष्ठ नेताओं ने शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से उनके निवास पर मुलाकात । ऐसा माना जा रहा है कि गांधी के साथ मुलाकात में दोनों दलों के बीच राजधानी की सात सीटों पर लोकसभा के लिए गठबंधन हो सकता है।

दोनों पार्टियों के बीच हालांकि अभी तक गठबंधन को लेकर कोई औपचारिक एलान नहीं हुआ है। लेकिन पार्टी से जुड़े सूत्र बता रहे हैं कि आप चार और कांग्रेस तीन सीटों पर चुनाव लडऩे पर सहमत हो सकते हैं।  दिल्ली में लोकसभा सीटों के लिए मतदान 12 मई को होना है।  आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने पिछले दिनों गठबंधन को लेकर कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष ने इसके लिए मना कर दिया है।

वर्ष 2009 के आम चुनाव में कांग्रेस ने दिल्ली की सातों सीटों पर जीत हासिल की थी, लेकिन 2014 में पार्टी से भारतीय जनता पार्टी ने सभी सातों सीटें छीन ली थी। वर्ष 2015 में दिल्ली विधानसभा के चुनाव में 15 वर्ष तक दीक्षित की अगुवाई में शासन चलाने वाली कांग्रेस की झोली खाली रह गई थी। सत्तर सदस्यीय विधानसभा में आप ने 67 सीटों पर विजय हासिल कर सभी को चौंका दिया था।