राहुल गांधी के खिलाफ राजद्रोह की अर्जी, कांग्रेस प्रत्याशी के लिए गैर जमानती वारंट जारी

श्रीमती विजय लक्ष्मी श्रीवास्तव

कानपुर,  लोकसभा चुनाव में कांग्रेस नेताओं की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के विरुद्ध महानगर मजिस्ट्रेट सप्तम के न्यायालय में राजद्रोह का परिवाद दाखिल किया गया है। वहीं एक मामले में कोर्ट ने फतेहपुर के कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व सांसद राकेश सचान के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया है। उनके खिलाफ चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर को पीटने के आरोप में मुकदमा दर्ज हुआ था।

अधिवक्ता ने सीएमएम कोर्ट में दाखिल किय परिवाद

अनवरगंज निवासी अधिवक्ता पंकज गौड़ ने शुक्रवार को महानगरीय मजिस्ट्रेट सप्तम के न्यायालय में शुक्रवार को राहुल गांधी के खिलाफ परिवाद दाखिल किया। इसमें कहा गया है कि भारत संविधान तथा कानून से संचालित होने वाला देश है। संसद ने देश की रक्षा के लिए विभिन्न कानूनों को बनाया और लागू किया। भारतीय दंड संहिता में ‘किसी भी व्यक्ति, संस्था अथवा संगठन द्वारा बोलकर अथवा लिखकर या संकेतों में विधि की सरकार के प्रति घृणा पैदा करता है, तो यह राजद्रोह की श्रेणी में आता है। इस तरह से राहुल गांधी ने राजद्रोह का समर्थन किया, जनमानस को प्रेरित किया तथा राजद्रोह किया है। वादी ने कहा कि इस घोषणा से मानसिक क्लेश हुआ तथा ठेस पहुंची है। अधिवक्ता अमित शर्मा ने बताया कि न्यायालय से राहुल गांधी को तलब करने की मांग की गई है, मामले में 16 अप्रैल को अगली सुनवाई होगी।