जयपुर एयरपोर्ट पर पहली बार तरल रूप में सोना पकड़ा, कीमत 23 लाख

मीनाक्षी पारीक 

जयपुर. सोने की तस्करी के लिए तस्कर नित नए तरीके इजाद कर रहे हैं। जयपुर एयरपोर्ट पर रविवार सुबह शारजाह से आई फ्लाइट में सोने को लिक्विड रूप में लेकर आए एक यात्री को हिरासत में लिया गया। मुंबई निवासी फैजल छोटे-छोटे प्लास्टिक पाउच में 733 ग्राम सोना लाया था। एकबारगी में यह अचार जैसा दिखाई दे रहा था। कस्टम विभाग के सुरक्षाकर्मी भी इसे देखकर समझ ही नहीं पाए कि आखिर ये है क्या? मशीनी जांच में सोने होने का खुलासा हो चुका था, इसलिए फैजल को हिरासत में लिया गया। सोने की कीमत 23 लाख रु. आंकी गई है। यह पहला मामला है, जब जयपुर में सोना लिक्विड रूप में लाया गया।

फैजल से पूछताछ की जा रही है कि वह शारजाह में किस जगह से सोना लाया था और इसे कहां सप्लाई करना था। गौरतलब है कि जयपुर में दुबई से सोने को अटैची के हैंडल, कॉफी पाउडर, इलेक्ट्रॉनिक सामान और शरीर के अंगों में छिपाकर लाने के मामले सामने आ चुके हैं।

इस तरह बनाते हैं लिक्विड
सोने का चूरा (पाउडर) बनाकर उसमें मिट्टी, रसायन या अन्य कोई अशुद्ध सामग्री मिला लेते हैं। फिर इसका गोल्ड पेस्ट बनाया जाता है। पेस्ट बनने से यह पतला हो जाता है और मेटल डिटेक्टर से गुजरते हुए पकड़ में नहीं आता। बाद में इससे सोना अलग कर लिया जाता है। फैजल लिक्विड के रूप में जो सोना लाया था, उसका वजन करीब एक किलो था। विभाग के अफसरों ने पेस्ट का ट्रीटमेंट कराया। इसके लिए बाहर से एक्सपर्ट बुलाए गए। इन एक्सपट्‌र्स ने ही पेस्ट को हार्ड रूप में चेंज किया। इस प्रोसेस में आठ घंटे से अधिक का समय लगा और वजन 733 ग्राम रह गया।

पिछले साल 34 किलो सोना पकड़ा  
वर्ष 2011 से 2018 तक कस्टम ने प्रदेश में सोना तस्करी के 137 मामलों में करीब 100 किलो सोना पकड़ा। कीमत 30 करोड़ आंकी गई। वर्ष 2018 में 48 मामलों में 11.71 करोड़ का 34 किलो सोना जब्त किया। रियाद, मस्कट, अबूधाबी, बैंकॉक, सिंगापुर से सबसे ज्यादा तस्करी होती है।