CM कमलनाथ के करीबियों पर आयकर विभाग की जांच दूसरे दिन भी जारी, आज खुलेंगे कई राज

भोपाल: मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबी राजेंद्र मिगलानी व ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के रह निवास पर रविवार सुबह 3 बजे आयकर विभाग द्वारा की गई छापेमारी लगातार दूसरे दिन भी जारी है। आयकर विभाग ने भोपाल-इंदौर में कई ठिकानों सहित दिल्ली और गोवा में 50 स्थानों पर छापेमारी की कार्रवाई सोमवार सुबह भी जारी रखी। कयास लगाए जा रहे हैं कि आज आयकर विभाग की टीम छापे में मिले बैंक खातों और लॉकर्स की जांच कर सकती है।

यह कार्रवाई इतनी गोपनीय रखी गई कि प्रदेश के खुफिया तंत्र को भी भनक नहीं मिली। मप्र पुलिस से संपर्क भी नहीं किया। छापेमारी में 300 अधिकारियों व इतने ही सीआरपीएफ जवानों को तैनात किया। भोपाल के प्लेटिनम प्लाजा स्थित एक फ्लैट से नौ करोड़ रुपए से अधिक नकद बरामद हुए हैं। हालांकि पीटीआई एजेंसी के मुताबिक यह आंकड़ा 10 से 14 करोड़ रुपए हो सकता है। इंदौर में नौ जगह जांच में नकदी बरामद होने की बात कही जा रही है। दिल्ली के ग्रीन पार्क स्थित मिगलानी के घर पर छानबीन चल रही है। हालांकि अधिकृत राशि का आंकड़ा जारी नहीं किया गया है। कक्कड़ के करीबी प्रतीक जोशी और अश्विन शर्मा के भोपाल स्थित फ्लैट से नकदी सहित दस्तावेज बरामद हुए हैं। चुनाव के ठीक पहले हुई कार्रवाई से सियासी व प्रशासनिक हलकों में हड़कंप है।

क्या है सीएम कमलनाथ से रिश्ता
प्रवीण कक्कड़- मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ पूर्व में मप्र पुलिस में कार्यरत थे। नौकरी छोड़कर पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया के साथ बतौर ओएसडी रहे। प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद कमलनाथ का ओएसडी बनाया गया। कक्कड़ का परिवार होटल सहित कई कारोबार से जुड़ा है। इनके भाजपा नेताओं से भी कारोबारी संबंध बताए जाते हैं।

राजेंद्र मिगलानी-सीएम कमलनाथ के बेहद करीबी मिगलानी करीब चार दशक से उनके साथ हैं। मिगलानी कमलनाथ के 1, तुगलक रोड, दिल्ली में बैठते हैं। ग्रीन पार्क में बंगला है।

अश्विन शर्मा-अश्विन शर्मा को एनजीओ का संचालक बताया जा रहा है। वह पेशे से प्रॉपर्टी डीलर है।

प्रतीक जोशी- प्रतीक जोशी को कक्कड़ का नजदीकी बताया गया है। इसके यहां आधा दर्जन से अधिक ब्रीफकेस और कागज के डिब्बों में नोटों के बंडल भरे मिले।

रतुल पुरी-कमलनाथ के भानजे रतुल पुरी से जुड़े 35 ठिकानों पर कार्रवाई की खबर है। हाल ही में हेलिकॉप्टर घोटाले में पूछताछ हो चुकी है।

बता दें कि आयकर विभाग ने खुफिया विंग की सूचनाओं के आधार पर यह कार्रवाई की है। जिसमें टीम की सुरक्षा के लिए स्थानीय पुलिस के बजाए सीआरपीएफ के जवान अपने साथ दिल्ली से लेकर आए थे। ये जवान एक दिन पहले पांच बसों से भोपाल-इंदौर पहुंचे। आयकर विभाग ने अपनी खुफिया विंग की सूचनाओं के आधार पर यह दबिश दी। इस कार्रवाई में प्रतीक जोशी के यहां आधा दर्जन से अधिक ब्रीफकेस और खोकों में नोटों के बंडल भरे मिले। नोटों की गिनती के लिए चार मशीनें बुलानी पड़ीं। भोपाल की नादिर कॉलोनी स्थित कक्कड़ के आवास और प्लेटिनम प्लाजा पर कड़ी सुरक्षा लगी रही। अश्विन शर्मा के ठिकाने पर महंगी- लग्जरी कारों का काफिला भी मिला है। इनमें लैंड रोवर, मर्सिडीज और विंटेज कारें भी पाई गई हैं। शर्मा व जोशी से पूछताछ जारी है। करोड़ों की नकदी कहां से आई इस बारे में बयान दर्ज किए जा रहे हैं।