सांबा के लोगों का ऐलान, कई सालों से पानी नहीं तो इस बार वोट भी नहीं

साम्बा : जिला साम्बा के पहाड़ी इलाकों में लोगों को पानी की किल्लत का खासा सामना करना पड़ रहा है और आलम यह है कि लोगों ने चुनाव का बायकाट करने की चेेतवानी तक दे दी है। जिला साम्बा के सुम्ब ब्लॉक के कनेर गांव के लोगों ने पी.एच.ई. विभाग की कार्यप्रणाली से परेशान होकर गांव  में  जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान लोगों ने अपनी हालत का दुखड़ा सुनाते हुए खाली बतर्न और पानी का एक गंदा तालाब भी दिखाया, जिसकी हालत बिलकुल ही दयनीय दिखती हुई नजर आई।

लोगों ने जोरदार प्रदर्शन करते हुए कहा कि चुनाव के दौरान लोगों को उनकी याद आ जाती है, परंतु पानी देने के लिए कोई भी आगे नहीं आता है। सच्चाई यह है कि विकास के दूर इस कनेर गांव में न तो सडक़ की सुविधा और न ही कोई पानी की। पी.एच.ई. विभाग कभी कभार पानी दे देता है तो साल के ज्यादातर महीने सप्लाई बंद रहती है। लोग बारिश के सहारे तालाब और बोलियों से गंदा पानी पीते हैं और उसी का इस्तेमाल अपनी दैनिक सुविधाओं के लिए करते हैं।  प्रदर्शनकारी  ने अपना दुखड़ा सुनाते हुए कहा कि पिछले 40 साल से उनका गांव विकास की रफ्तार से पूरी तरह से पिछड़ गया है !

आज तक सडक़ बन पाई है और न ही पी.एच.ई. विभाग का पानी नसीब हो पाया है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव के दौरान बड़े-बड़े नेता उनके पास झूठे बायदे करके वोट मांगने के लिए आ जाते हैं, परंतु जब काम करवाने की बात आती है तो कोई भी उनके पास नहीं आता है।