साइकिल से गिरकर घायल होने के बाद इलाज के लिए आनंद फॉर्मेसी पहुंचा मरीज, मिली मौत

ऋषिराज शर्मा

साइिकल से गिरकर घायल होने वाले 27 साल के मरीज की इंजेक्शन लगाने के 5 घंटे बाद मौत हो गई। मरीज का इलाज स्टेशन रोड स्थित आनंद फार्मेसी में कराया गया था, जहां डॉ. गोविंद शर्मा ने उसे 3 इंजेक्शन लगाए। इससे मरीज का शरीर काला पड़ गया। पुलिस ने शव का मेकाहारा में पोस्टमार्टम कराया है।

शहर में संचालित अवैध क्लीनिकों पर कार्रवाई नहीं होने से लोगों की जान खतरे में है। ताजा मामला आनंद फार्मेसी का है, जहां डॉक्टर गोविंद शर्मा इलाज करते हैं। गोविंद शर्मा ने आयुर्वेद की डिग्री ली है। याने वो सिर्फ आयुर्वेदिक इलाज कर सकते हैं, लेकिन बीच शहर में ही वे आयुर्वेद को दरकिनार करते हुए मरीजों का एलोपैथिक इलाज कर रहे हैं। प्राची विहार निवासी मनीष पुरी (27) एक हफ्ते पहले साइकिल से गिरकर घायल हो गया था। मरीज के साढू अभिषेक सिंह ने बताया कि मनीष को ज्यादा चोट नहीं आई थी। सिर्फ पैर में मामूली खरोच आने के कारण वह इलाज नहीं करा रहा था। सोमवार शाम करीब 6 बजे उसके पैर में सूजन आने के बाद मरीज को लेकर वे आनंद फार्मेसी में डॉक्टर गोविंद शर्मा के पास पहुंचे। डॉक्टर ने उसे तीन इंजेक्शन लगा दिए। मरीज घर पहुंचा तो उसे चक्कर आने लगा और बदन काला पड़ने लगा। घबराए परिजन उसे मेकाहारा लेकर पहुंचे। मेकाहारा में इलाज के कुछ देर बाद रात तकरीबन 11 बजे मरीज ने दम तोड़ दिया। शहर में तीन दर्जन से भी अधिक ऐसे क्लीनिक और फार्मेसी संचालित हो रहे हैं, जहां पर मरीजों को सही तरीके से इलाज नहीं मिलता। विभाग इन पर कार्रवाई नहीं कर रहा।