डोगरी गीत, नृत्य के साथ बैसाखी की रौनक शुरू, कल लगेगा मेला

साक्षी सूदन 

जम्मू, शहर के कैनाल रोड पर हर वर्ष की तरह लगने वाले बैसाखी मेले की रौनक दिखना शुरू हो गई है। रणवीर कैनाल के किनारे लगने वाले मेले के लिए शुक्रवार को कुछ और दुकानें सजीं। शनिवार को वहां पर बच्चों के लिए झूले भी लग जाएंगे।

इस मेले को लेकर वीरवार से तैयारी शुरू हो गई थी। मेला स्थल पर चाट-पकौड़ों के अलावा मिट्टी के घड़ों की दुकानें सज गई हैं। इस मेले से काफी लोग मिट्टी के घड़े खरीद कर ले जाते हैं जिसमें पानी भरने पर ठंडा रहता है। कैनाल रोड का बैसाखी मेला जम्मू का प्रसिद्ध मेला बन चुका है। इसमें हजारों की संख्या में दूर-दूर से लोग पहुंचते हैं। मेला घूमने के अलावा लोग यहां पर खरीदारी भी करते हैं और दरिया चिनाब से आने वाले ठंडे पानी में नहाने का आनंद भी लेते हैं। कैनाल रोड पर रणवीर नहर को दो भागों में बांटा गया है जहां एक बड़ी और एक छोटी नहर बन जाती है।बड़ी नहर में जहां कुशल तैराक नहाने उतरते हैं तो वहीं छोटी नहर में बच्चे, महिलाएं व तैराकी न जानने वाले लोग आराम से नहाते हैं। वहीं, कैनाल रोड पर दुकान चलाने वाले सुशील कुमार का कहना है कि मेले के दिनों में चहल-पहल दोगुनी हो जाती है। इस दिन लोग बाहर लगे स्टालों से ही सामान ज्यादा खरीदते हैं लेकिन इससे उन्हें लाभ ही होता है। मेले के चलते बाजार की प्रसिद्धि लोगों में हो रही है और लोग मेले के दौरान न सही बाद में जरूर यहां पर आकर खरीदारी करते हैं। उधर पुलिस ने भी मेले के दौरान सुरक्षा के बंदोबस्त कर लिए हैं। पुलिस ने स्टाल लगाने वाले लोगों को अपनी जगह में ही रहने की हिदायत दी है ताकि सड़क पर जाम की स्थिति न उत्पन्न हो। मेले में बच्चों के खिलौने लेकर भी व्यवसायी पहुंच चुके हैं जिनमें से कुछ पंजाब व उत्तर प्रदेश से भी आए हैं।

मुबारक मंडी में फिर गूंजे डोगरी तराने

ढोल नगाड़ों की गूंज और सांस्कृतिक कार्यक्रम की धूम के साथ तीन दिवसीय बैसाखी उत्सव का आगाज डोगरा शौर्य की प्रतीक ऐतिहासिक मुबारक मंडी परिसर में हुआ। कलाकारों की प्रस्तुति के साथ रंग-बिरंगी रोशनी में नहाए डोगरा आर्मी हेड क्वार्टर की खूबसूरती के बीच रंगारंग कार्यक्रम मन मोह गए। मुबारक मंडी के बीचोबीच बने चबूतरे पर एक बार फिर डुग्गर प्रदेश के कलाकारों ने रंग जमाया और डोगरी गीत व नृत्य पेश करके वहां पहुंचे श्रोताओं को अपनी संस्कृति से रूबरू करवाया। इस दौरान स्कूली बच्चों के लिए रंगोली प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। पर्यटन विभाग की ओर से आयोजित इस बैसाखी उत्सव के उद्घाटन कार्यक्रम में विभाग के निदेशक ओम प्रकाश भगत मुख्य अतिथि रहे।