बंद हो रहे फाटक से टकराए युवक की मौत, बिना पीएम के भेजा शव

ऋषिराज शर्मा

रायगढ़।

मेडिकल कालेज अस्पताल अपने लापरवाह कार्यप्रणाली से आये दिन सुर्खियों में बना रहता है।अस्पताल प्रबंधन द्वारा शुक्रवार शाम चक्रधर नगर रेलवे फाटक से टकरा एक व्यक्ति की मौत हो जाने के बाद बैगेर पीएम किये शव को दाह संस्कार के लिए परिजन के सपुर्द कर दिया। इस मामले की भनक लगते ही अस्पताल प्रबंधन से लेकर पुलिस महकमे में खलबली मच गई आनन फानन में शव को ग्राम बादिमाल पोस्ट रेंगाली झारसुगुड़ा से रात्रि एक बजे वापस लाया गया, मृतक व्यक्ति की शव को मेडिकल कालेज आस्पताल लाकर कानूनी कार्रवाई के उपरांत पीएम के लिए सुरक्षित रखा गया।

मिली जानकारी के मुताबिक महेंद्र प्रधान पिता मंगलू प्रधान 55 बादिमाल थाना रेंगाली पड़ोसी राज्य जिला झारसगुड़ा का रहने वाला है। मृतक महेंद्र शुक्रवार अपने रिश्तेदारों के यहां शाम को आया था जहां से चक्रधर नगर इलाके में मौजुद दवा दुकान दवाई लेने के लिए आया था। इस बीच फाटक को बंद होते देख

युवक ने अपने मोटरसाइकिल को फर्राटे से दौड़ाते हुए फाटक पार करने की सोच रहा था जिस पर फाटक उसके सिर में जक गिरा। इस घटना के बाद युवक लहूलुहान हो गया। जिसे स्थानीय लोगो ने आनन फानन में मेकाहारा आस्पताल लेकर आये जहां आरम्भिक उपचार के बाद उसकी मौत हो गई है। इस घटना के बाद आकस्मिक वार्ड में बैठे आस्पताल स्टाफ द्वारा बिना पीएम व कानूनी प्रक्रिया करवाये लाश सपुर्द कर दिए। पूरे घटना क्रम की जानकारी पुलिस को मिलने के बाद पुलिस ने आधीरात 10 बजे 30 किलोमीटर दूर गृह ग्राम से शव को एम्बुलेंस की मदद से लेकर आये है। जहां सुबह पोस्टमार्टम की कार्रवाई के बाद शव को वापस दिया गया है।

प्रबंधन की लापरवाही मच गई हड़कंप

यह कोई पहला वाक्या नही है जिसमें मेकाहारा आस्पताल प्रबंधन की लापरवाही उजागर हुई है। वही शव को पीएम पंचनामा की कार्यवाही बैगेर भेजे जाने से जिला पुलिस प्रशासन में खलबली मच गई। मामले की भनक अतिरिक्त पुलिस कप्तान को लगने के बाद संबंधित थाना एवं कोतवाली पुलिस को कानूनी कार्रवाई की कड़ी हिदायत दिए।

वर्सन

शव को बैगेर पीएम के भेजे जाने की सूचना मिली थी जिस पर परिजनों से चर्चा कर शव को वापस लाया गया है, सुबह पीएम व अन्य कानूनी प्रक्रिया के उपरांत शव परिजन के सपुर्द किया गया है

अभिषेक वर्मा, अतिरिक्त पुलिस कप्तान