विपक्षी दलों ने फिर उठाया EVM से छेड़छाड़ का मुद्दा, बोले- जाएंगे सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए जहां प्रचार जोर-शोर से जारी है। वहीं सभी विपक्षी पार्टियां रविवार को एकजुट हुईं और पहले चरण के चुनाव के बाद ईवीएम से छेड़छाड़ को लेकर सवाल उठाए हैं। सभी दलों के प्रमुखों ने चुनाव आयोग से मुलाकात की और ईवीएम से छेड़छाड़ से लेकर वोटर का नाम लिस्ट में न होने तक कई मुद्दों पर अपनी शिकायत दर्ज करवाई।

आयोग से मुलाकात के बाद विपक्ष की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि लाखों वोटरों के नाम बिना-जांच पड़ताल किए ऑनलाइन हटा दिए गए। अब यह और जरूरी हो गया है कि कम से कम 50 फीसदी वीवीपैट ट्रेल का मिलान किया जाए। हम इसके लिए सुप्रीम कोर्ट जाएंगे।

सिंघवी ने कहा कि हमें नहीं लगता कि ईवीएम के मुद्दे के निपटान के लिए आयोग कोई जरूरी कदम उठाएगा। उन्होंने कहा कि अगर आप X पार्टी को वोट देते हैं तो वो Y पार्टी को जाता है। वीवीपैट भी 7 सेंकंड की जगह केवल 3 सेकंड दिखता है। उल्लेखनीय है कि विपक्ष की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में मंच पर दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल , आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू, कपिल सिब्बल समेत अन्य नेता मौजूद रहे।