माता वैष्णो देवी के श्राइन बोर्ड की तरह रघुनाथ मंदिर का भी बोर्ड बनना चाहिए

 

राजेन्द्र भगत
जम्मू:श्री रघुनाथ मंदिर सेवा समिति के बैनर तले समिति के महासचिव ठाकुर करनैल चंद ने प्रेस वार्ता के दौरान जम्मू कश्मीर के मंदिरों की देखरेख के लिए बने धर्मार्थ ट्रस्ट पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया उन्होंने कहा कि 1846 में जिस लिए धर्मार्थ ट्रस्ट की स्थापना की गई थी ट्रस्ट आज अपने कार्यों को भूल कर केवल संपत्ति को खुर्द खुर्द करने में लगा है उन्होंने कहा कि हजारों कनाल भूमि जो ट्रस्ट के अधीन आती है उसे लगातार बेचा जा रहा है उन्होंने कहा कि यह संपत्ति मंदिरों की है जो आम जनता के दान पुण्य से बनी है परंतु वर्तमान में ट्रस्ट टेबल संपत्तियां वेच कर प्राचीन धरोहरों के साथ अन्याय कर रहा है ठाकुर कन्याल चंद ने मांग की कि जिस प्रकार माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड बना था उसी तर्ज पर सिटी ऑफ टेंपल के नाम से जाने जाने वाले जम्मू के मंदिरों का एक बोर्ड बना दिया जाए या फिर इन सभी मंदिरों को माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के साथ जोड़ दिया जाए ताकि इन मंदिरों का रखरखाव तथा इनके साथ जुड़ी संपत्ति माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के अधीन हो और जम्मू शहर विकास कर सके तथा इसकी पहचान को बचाया जाए अन्यथा जम्मू तो व्यापारिक दृष्टि से समाप्त हो ही रहा है तथा मंदिरों की संपत्तियों को धड़ल्ले से बेचा जा रहा है उन्होंने कहा कि ट्रस्ट मात्र एक परिवार की संपत्ति बन कर रह चुका है और वह परिवार संपत्तियों को अपने कब्जे में जमाए रखने के लिए राजनीतिक मैदान में भी हिस्सा ले रहा हैं तथा लोगों को उन्हें वोट डालने के लिए प्रेरित कर रहा है परंतु जिन्होंने प्राचीन धरोहरों को समाप्त कर दिया उन्हें बेच दिया वह आज राजनीति में आकर किस मुंह से वोट मांग रहे हैं इस मौके पर श्री रघुनाथ मंदिर सेवा समिति के अन्य पदाधिकारी भी प्रेस वार्ता में मौजूद थे।