पत्नी व तीन बच्चों को गोली मारने के बाद युवक ने खुद को भी उड़ाया

श्रीमती विजय लक्ष्मी श्रीवास्तव

औरैया, एरवाकटरा ब्लाक क्षेत्र के गांव बरौनाकला में गुरुवार दोपहर को घरेलू विवाद में एक युवक ने पहले पत्नी को तमंचे से गोली मार दी। इसके बाद उसने डेढ़ साल के मासूम व दो पुत्रियों को भी गोली मार कर खुद को भी गोली से उड़ा लिया। इस लोमहर्षक कांड में एक छह साल की बेटी को छोड़कर सभी की मौके पर ही मौत हो गई। घायल बच्ची को गंभीर हालत में सैफई रेफर किया गया है।बरौना कला निवासी लाखन सिंह के तीन बेटे हैं। जिसमें विश्राम सिंह यादव (45) दिल्ली में एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था। अन्य दो भाई गांव में रहकर खेती करते हैं। दो दिन पहले विश्राम सिंह घर आया था। गुरुवार की दोपहर दो बजे पत्नी रेखा देवी (42) से उसकी किसी बात को लेकर विवाद हो गया। गुस्से में आकर विश्राम ने तमंचा निकाला और रेखा को गोली मार दीयह देख बड़ी बेटी प्रांशी (17) चिल्लाते हुए बाहर भागी तो विश्राम ने दौड़कर उसे भी गोली मार दी। इसके बाद बेड पर रो रहे पुत्र वंश (डेढ़ वर्ष) को भी गोली मार दी। दूसरी बेटी आंशी (6) भागी तो उसे भी गोली मारी तो वह वहीं गिर पड़ी। इस बीच विश्राम ने अपनी कनपटी पर तमंचा लगा खुद को भी गोली से उड़ा लिया। गोली चलने की आवास सुनकर लोग दौड़े तो आंशी की सांस चल रही थी, जबकि बाकी की मौत हो चुकी थी। आंशी को तत्काल एंबुलेंस से ले जाकर सैफई में भर्ती कराया गया।
सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंच गई और डीएम अभिषेक कुमार व एसपी हरीश चंदर भी रवाना हो गए। गांव के लोग परिजन अभी कुछ बता नही पा रहे कि आखिर विवाद किस बात को लेकर हुआ। कुछ लोग ये जरूर बता रहे कि विश्राम सिंह गुस्सैल प्रवृत्ति का था। जब वह दिल्ली से आता था तो पत्नी से झगड़ा जरूर करता था।