सुषमा के भाषण को समझने में पाकिस्तान से हुई गलती, बालाकोट पर किया झूठा दावा

नई दिल्लीः विदेश मंत्री और भाजपा नेता सुषमा स्वराज ने गुरुवार को कहा था कि फरवरी में पुलवामा आतंकवादी हमले के जवाब में भारतीय वायुसेना द्वारा किए गए हवाई हमले में किसी भी पाकिस्तानी सैनिक या नागरिक की मौत नहीं हुई, केवल जैश ए मोहम्मद के आतंकी शिविरों को निशाना बनाया गया। पाकिस्तान ने सुषमा के इस बयान को समझने में गलती कर दी और झूठा दावा दोहराया। पाकिस्तान ने कहा कि सुषमा के बयान से साफ हो गया है कि पाकिस्तान के बालाकोट में भारत जैश को निशाना बनाने में कामयाब नहीं हुआ। दरअसल एजेंसी की खबर आने के बाद पाकिस्तान सुषमा के बयान को ठीक से अनुवाद नहीं कर पाया और झूठे दावा करने लग गया।

पाकिस्तान ने कहा कि इस्लामाबाद शुरुआत से कह रहा है कि पाकिस्तानी वायुसेना के पहुंचने के बाद भारतीय सैनिकों ने जल्दबाजी में बम गिराए और इससे किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ है। सुषमा गुरुवार को अहमदाबाद में महिला पार्टी कार्यकर्त्ताओं को संबोधित कर रही थीं। इस दौरान उन्होंने कहा कि भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट इलाके में जैश ए मोहम्मद के एक आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर को निशाना बनाया था। स्वराज ने कहा कि आत्म रक्षा में हवाई हमले को अंजाम दिया गया था। उन्होंने कहा कि पुलवामा हमले के बाद जब हमने सीमा पार हवाई हमला किया तो हमने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को बताया कि हमने केवल आत्म रक्षा में ऐसा कदम उठाया है।

विदेश मंत्री ने कहा कि हमने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से कहा था कि सशस्त्र बलों को निर्देश दिया गया था कि हमले में किसी भी पाकिस्तानी नागरिक या सैनिक को नुकसान नहीं हो। उन्होंने कहा कि सेना को कहा गया था कि केवल जैश ए मोहम्मद के आतंकी शिविरों को निशाना बनाए जिसने पुलवामा हमले की जिम्मेदारी ली थी। बता दें कि एयर स्ट्राइक के बाद दावा किया गया था कि हमले में कम से कम 250-300 आतंकी मारे गए हैं। इसके बाद कई वीडियो भी आई थीं जिसमें आतंकियों के मारे जाने का दावा किया गया था।