दिग्गी राजा के हनुमान मंदिर जाने पर शिवराज का तंज, चुनाव आते ही याद आ रहे राम-हनुमान

भोपाल: प्रदेश की सबसे हॉट सीट भोपाल पर पूरे देश की नजर है। इस रोचक मुकाबले में एक तरफ भगवा आतंक की बात कहने वाले दिग्विजय सिंह हैं तो दूसरी तरफ कट्टर हिंदूवादी छवि वाली साध्वी प्रज्ञा। ऐसे में हिंदू विरोधी छवि रखने वाले दिग्विजय सिंह के लिए यह चुनाव किसी चुनौती से कम नहीं। ऐसे में वो इस बार अपनी छवि बदलने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। इसलिए वो ऐसा कोई भी मौका नहीं छोड़ रहे हैं। वहीं उनके मंदिरों में जाने पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज ने टिप्पणी करते हुए कहा कि भगवा को आंतकवाद कहने वाले चुनाव आते ही मंदिरों के चक्कर काट रहें हैं।

आज हनुमान जयंती के मौके पर वो सुबह से ही बजरंगबली की दरबार में मत्था टेकने पहुंचे। इसकी शुरुआत सुबह साढ़े पांच बजे भोपाल के छोला दशहरा मैदान स्थित खेड़ापति हनुमान मंदिर से हुई। यहां केसरीनंदन के साथ दिग्विजय सिंह ने मंदिर के महंत का आशीर्वाद भी लिया। मंदिर में दर्शन के साथ ही दिग्विजय सिंह यहां बनीं गौशाला में भी गए। इसके बाद दिग्विजय सिंह चार्ली श्री मेहंदीपुर बालाजी हनुमान मंदिर पहुंचे। यहां हनुमानजी का आशीर्वाद लेने के बाद वो न्यू मार्केट में मौजूद हनुमान मंदिर में मत्था टेकने पहुंचे।

वहीं दिग्विजय सिंह के मंदिर जाने व पूजा अर्चना करने पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हमला बोलते हुए कहा है कि दिग्विजय चुनाव के समय मंदिर जाते है। चुनाव पास है तो उन्हें राम और हनुमान जी याद आ रहे है, इसलिए मंदिर-मंदिर जा रहे है। जिनके साथ सत्य न्याय और धर्म है उन्हें कोई नहीं हरा सकता है। इतना ही नहीं शिवराज ने कांग्रेस के भगवा पर न बोलने पर कहा कि कांग्रेस के नेताओ का दिन का चैन ओर रात की नींद गायब हो गई है। पहले भगवा को कोसते थे, लेकिन अब हिंदुत्व की राह पकड़ रहे हैं। शिवराज ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा हिन्दुत्व को बदनाम करने की साजिश करने का काम किया, षड्यंत्र किया है, हमेशा आतंकियों के पक्ष में बोले है, देशद्रोहियो का साथ दिया। अब भगवा पर बोलने से बच रहे है।