कानपुर से दो और सट्टेबाज गिरफ्तार, क्रिक बज एप से लगवाते थे सट्टा

श्रीमती विजय लक्ष्मी श्रीवास्तव

कानपुर, पुलिस के सख्त शिकंजे के बावजूद आइपीएल में सïट्टेबाजी पर लगाम नहीं लग रही है। स्वाट टीम ने सीसामऊ पी-रोड से दो सट्टेबाजों को गिरफ्तार कर लिया। इसमें से एक पूर्व पार्षद प्रत्याशी है। दोनो ही मोबाइल फोन पर क्रिक बज एप के माध्यम से सट्टा लगवाते थे और इसमें व्यापारियों हजारों के दांव लगाते थे। पुलिस ने उनके कब्जे से 13.31 लाख रुपये, आठ मोबाइल, टीवी आदि सामान बरामद किया है।

स्वाट टीम प्रभारी दिनेश कुमार यादव ने बताया कि पिछले दिनों रायपुरवा में झकरकटी के पास गिरफ्तार किए गए सटोरियों ने पी रोड पर गली में भी सïट्टा लगवाए जाने की सूचना दी थी। रविवार रात बजरिया पुलिस के साथ पूर्व पार्षद प्रत्याशी रहे संकल्प जायसवाल उर्फ सनी के घर पर छापा मारा। उस समय आइपीएल क्रिकेट मैच चल रह था और संकल्प का साथी रिंकू मोबाइल पर भाव पता करके दूसरों को बताते हुए एक डायरी में सटोरियों के नाम व रकम लिख रहा था। पुलिस को देखते सट्टेबाज छत पर चढ़कर भागे लेकिन उन्हें दबोच लिया गया। सïट्टेबाजी का पूरा खेल मोबाइल फोन पर क्रिक बज नामक एंड्रायड एप (एप्लीकेशन) के जरिए चल रहा था।

बजरिया इंस्पेक्टर ने बताया कि सटोरियों के कब्जे से बेड पर पड़े गद्दे में दबे 13.31 लाख रुपये बरामद किए गए हैं। आरोपित सनी जायसवाल पार्षद पद का चुनाव भी लड़ चुका है और उसके पिता व चाचा कपड़ा व्यापारी हैं। आरोपित ने बताया कि मोबाइल पर एप के जरिए भाव पता करते थे और उसे व्यापारियों को फोन पर बताकर सïट्टा लगवाते थे। रकम का लेनदेन वह घर से ही करता था।