‘मालेगांव ब्लास्ट’ के सहआरोपी ने भी की साध्वी प्रज्ञा के बयान की निंदा

भोपाल: शहीद एटीएस चीफ हेमंत करकरे पर विवादित टिप्पणी देने के बाद साध्वी प्रज्ञा विवादों में घिर गईं हैं। वहीं साल 2008 के मालेगांव विस्फोट मामले में सहआरोपी समीर कुलकर्णी ने कहा है कि, साध्वी प्रज्ञा ही क्या किसी को भी हेमंत करकरे को देशद्रोही कहने का हक नहीं है। समीर ने कहा कि साध्वी के बयान और इसके माफी मांगने के बाद वह कांग्रेसी उम्मीदवार दिग्विजय सिंह को हराने के लिए प्रज्ञा के समर्थन में प्रचार करेंगे। समीर मालेगांव विस्फोट मामले में फिलहाल जमानत पर बाहर चल रहे हैं।

साध्वी के समर्थन में ये कहा
कुलकर्णी ने कहा कि, करकरे के खिलाफ इस तरह की टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है क्योंकि करकरे ने आतंकवादियों से लड़ते हुए अपने प्राणों की आहुति दी। कुलकर्णी ने कहा कि बहादुरों के खिलाफ इस तरह की टिप्पणियां करना उनके बलिदान के प्रति कृतघ्नता है। हालांकि उन्होंने प्रज्ञा ठाकुर की उम्मीदवारी का समर्थन करते हुए कहा, विस्फोट मामले में कई सालों तक हिरासत में रहने के दौरान साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर सहित हमें बहुत यातनाएं दी गईं। हो सकता है कि साध्वी ने नाराजगी में बयान दिया हो।