विवाद को शांत करते हुए राज्यपाल ने कहा स्थानीय लोगों को टोल होगा माफ

बालाराम शर्मा 

श्रीनगर-अनंतनाग हाईवे पर राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा स्थापित टोल प्लाजा को लेेकर पैदा सियासी विवाद को अनावश्यक बताते हुए राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने वीरवार को कहा कि स्थानीय लोगों के लिए टोल माफ किया जाएगा।

आज यहां टीआरसी चौक में ग्रेड लॉक सेपरेटर को जनता को समर्पित करने के बाद पत्रकारों के साथ एक संक्षिप्त बातचीत में राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि स्थानीय लोगों को किसी तरह का टोल टैक्स नहीं देना होगा। हमने इस मामले को केंद्र सरकार के साथ उठाया है। लेकिन चुनाव प्रक्रिया के चलते इस विषय में ज्यादा प्रगति नहीं हो पायी थी। हमें यहां लोगों की समस्याओं और मुश्किलों का पूरा ध्यान है, हम उन्हें हल करने का पूरा प्रयास कर रहे हैं। इसके लिए जो भी संभव है, वह सभीउपाय किए जाएंगे।

गौरतलब है कि श्रीनगर- अनंतनाग हाइवे पर संगम के निकट राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने टोल प्लाजा को दो दिन पहले ही क्रियाशील बनाया है। लेकिन स्थानीय वाहन चालकों व अन्य नागरिकों ने इस टोल प्लाजा का विरोध शुरु कर दिया है। इसे लेकर राजनीति भी शुरु हो चुकी है।

नेशनल कांफ्रेसं, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी, माकपा ने इसे पहले सही मंदी की मार से त्रस्त कश्मीर की अर्थव्यवस्था पर आघात बताते हुए इसे जनविरोधि करार दिया है तो पूर्व विधायक इंजीनियर रशीद ने इसे धारा 370 के उल्लंघन के साथ जोड़ दिया है। सभी राजनीतिक,सामजािक,व्यापारिक और मजहबी संगठन ने टोल टैक्स को बंद करने की मांग कर रहे हैं।