कासगंज-महिला ने तांगे में बच्चे को दिया जन्म

दीपसिंह 

कासगंज,  सरकार की एंबुलेंस सेवा की उस समय कलई खुली जब बुलाने क बावजूद भी दो घंटे तक एंबुलेंस नहीं पहुंची और तांगे में स्वास्थ्य केंद्र ले जाते समय महिला ने बालिका को जन्म दिया। बाद में उसे स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। जहां प्रसूता और नवजात स्वास्थ्य हैं।

गुरूवार को सोरों कोतवाली के गांव फरीदपुर निवासी बृजेश कुमार की पत्नी सुशीला देवी को प्रसव पीड़ा हुई। गांव की आशा और परिजनों ने 102 सेवा को फोन कर जानकारी देते हुए बुलाया, लेकिन दो घंटे के इंतजार के बावजूद भी जब एंबुलेंस गांव नहीं पहुंची तो महिला की प्रसव पीड़ा असहनीय थी। परिजनों ने तांगे की व्यवस्था की। गांव की कुछ महिलाएं तांगे में सवार होकर प्रसूता को सोरों स्वास्थ्य केंद्र के लिए निकल पड़ी। तांगा सोरों स्वास्थ्य केंद्र से कुछ ही दूरी पर था कि महिला ने बालिका को जन्म दे दिया। ग्रामीण महिलाओं ने प्रसव पीड़ा कराई बाद में दोनों को स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। जहां प्रसूता और नवजात पूरी तरह स्वास्थ्य है, लेकिन एंबुलेंस सेवा को लेकर लोगों में तरह तरह की चर्चा है। लोगों कहना है कि पूर्व की अखिलेश सेवा ने यह सेवा चालू की थी। शुरूआत में तो यह सेवा बेहतर थी, लेकिन अब इस सेवा के अब कोई मायने नहीं रहे हैं। एंबुलेंस समय से नहीं पहुंचती है।