जोधपुर-गर्मी की छुटि्टयों में भी सरकारी शिक्षक स्कूल आएंगे मिड-डे मील पकाकर छात्र-छात्राओं को खिलाएंगे

गर्वित श्रीवास्तव 

जोधपुर. जोधपुर सहित प्रदेश की सभी सरकारी स्कूलों में बच्चों के ग्रीष्मकालीन अवकाश शुक्रवार से शुरू होंगे। यह अवकाश 21 जून तक चलेंगे। इस दौरान जिले की 11 तहसील के 554 गांवों की स्कूलों में टीचर्स को रोजाना विद्यालय आकर बच्चों को मिड-डे-मील खिलाना हाेगा। यह आदेश ग्रीष्मकालीन अवकाश के पहले दिन से लागू होंगे।

दरअसल, गांवों में सूखे की दृष्टि के मद्देनजर राज्य सरकार ने गंभीर सूखाग्रस्त व मध्यम सूखाग्रस्त गांवों का चयन किया है। इसमें जोधपुर जिले के 483 गांव गंभीर सूखाग्रस्त व 71 मध्यम सूखाग्रस्त गांव की श्रेणी में चयनित किए गए हैं। इन गांवों की सभी स्कूलों में पहली से आठवीं कक्षा के बच्चों को पोषाहार खिलाना होगा। इस संबंध में मिड-डे-मील आयुक्त ने नौ जिलों के कलेक्टर को आदेश जारी कर दिया है।

इन जिलों के गांवों के लिए हुए आदेश  
बाड़मेर के 2741, बीकानेर के 189, जैसलमेर के 806, जालोर के 680, जोधपुर के 554, हनुमानगढ़ के 171, पाली के 80, चूरू के 163, नागौर जिले के 171 गांवों का चयन किया गया। इन गांवों को अभावग्रस्त गांव घोषित करने के आदेश आपदा प्रबंधन, सहायता व नागरिक सुरक्षा विभाग के शासन सचिव हेमंत कुमार गेरा ने किए हैं।

छुटि्टयों की प्लानिंग पर पानी फिरा
ग्रीष्मकालीन अवकाश में शिक्षकों के छह दिन की विषय विशेष की ट्रेनिंग भी होनी है। ऐसे में स्कूलों में मिड-डे-मील खिलाने के आदेश के बाद जिन टीचर्स ने परिवार या मित्रों के संग घूमने का प्लान किया है। उनकी योजना पर पानी फिर गया है।