रामगढ़ में पेयजल संकट से परेशान महिलाअाें ने जलदाय विभाग पर किया विरोध-प्रदर्शन

महेशचन्द्र मीणा 

महिनों से पेयजल संकट से जूझ रही कस्बे की महिलाअाें ने बुधवार काे जलदाय विभाग के कार्यालय पर विराेध-प्रदर्शन किया। लेकिन यह विराेध प्रदर्शन कस्बा निवासी व युवा कांग्रेस के जिला महासचिव बली सैनी सहित तीन लाेगाें काे महंगा साबित हाे गया है। विभाग के कनिष्ट अभियंता इम्तियाज खान ने राजकार्य में बाधा का अाराेप लगाते हुए रिपाेर्ट दर्ज करा दी। जिस पर थाना पुलिस ने नामजद महेश साहू व देवेंद्र साहू निवासी रामगढ़ काे अपनी गिरफ्त में ले लिया है। इन दाेनाें का कहना था कि महिलाअाें ने कार्यालय के बाहर मटके जरूर फाेड़े थे। लेकिन ताेड़फाेड़ नहीं की। साथ ही उन्हाेंने बताया कि बली सैनी विभाग के कार्यालय पर गया ही नहीं। जबकि कनिष्ट अभियंता के अनुसार बली सैनी माैके से फरार हाे गया।

पुलिस काे दी रिपाेर्ट का हवाला देते हुए कनिष्ट अभियंता ने बताया कि बली सैनी ने उसे फाेन पर पानी काे लेकर धमकी दी। उसके बाद बुधवार काे महेश, देवेंद्र अादि कई महिलाअाें के साथ कार्यालय पर अाए। यहां अाकर ताेडफाेड़ व अभद्रता शुरू कर दी।

मुख्यालय पर नहीं रहते अधिकारी: पेयजल सप्लाई अापूर्ति के लिए सरकार द्वारा कई कराेड़ रुपए खर्च करने के बावजूद रामगढ़ में पानी की समस्या है। इसकी वजह सहायक अभियंता सहित कनिष्ट अभियंता का मुख्यालय पर नहीं रहना है। विभाग के सभी अधिकारियाें के निवास स्थान अलवर शहर सहित अन्यत्र हैं। जिस कारण व्यवस्थाएं समय पर नहीं हो पाती।