इन्दौर नगर निगम के 14पार्षदो को अयोग्य घोषित करने का मामला न्यायालय पहुचा

इन्दौर
पार्षदों को उच्च न्यायालय से मिली बड़ी राहत। कमिश्नर की कार्यवाही की स्थगित।
इंदौर कमिश्नर द्वारा चिंटू चौकसे की शिकायत पर चन्दू शिंदे राजेन्द्र राठौर समेत 14 पार्षदों को अयोग्य घोषित करने सम्बन्धित समस्त कार्यवाहियों को स्थगित करते हुए याचिकाकर्तागण पार्षदों को अंतरिम राहत प्रदान करते हुए, कमिश्नर को 4 हफ़्तों में जवाब प्रस्तुत करने हेतु समय प्रदान किया गया है
पार्षदों की ओर से पक्ष रखते हुए वरिष्ठ अभिभाषक श्री पीयूष माथुर, श्री विनय सर्राफ, श्री पुष्यमित्र भार्गव, श्री हर्ष वर्धन शर्मा अभिभाषकों ने न्यायालय के समक्ष इंदौर कमिश्नर की क्षेत्राधिकारिता पर प्रश्न चिन्ह उठाते हुए तर्क किये और यह बताया कि कमिश्नर द्वारा निगम पार्षदो के खिलाफ की जा रही कार्यवाही नियम विरुद्ध होकर अमान्य जिस पर माननीय न्यायालय ने याचिकाकर्ता की दलीलों को प्रथम दृष्टया सही स्वीकारते हुए अंतरिम आदेश प्रदान किया।
ब्यूरो रिपोर्ट
तेजकरण(राजू)मौर्य
मध्यप्रदेश स्टेट हेड
प्रजातन्त्र का स्तम्भ