कासगंज, -नर्सिग होम में बालक की मौत, हंगामा

दीपसिंह 

कासगंज,  शहर के नर्सिग होम में उपचार के दौरान चार महीने के मासूम की मौत हो गई। गुस्साए परिजनों ने नर्सिग होम में जमकर हंगामा काटा। आक्रोश देख कर डॉक्टर भी यहां से चले गए। कोतवाली कासगंज से पहुंचे पुलिस फोर्स ने परिजनों को समझाया।

सोरों के मुहल्ला बजरिया निवासी अबरार के चार माह का पुत्र अब्दुल रहमान बुखार से पीड़ित था। बालक का उपचार कासगंज के निजी चिकित्सक के यहां चल रहा था। जांच में बालक को मलेरिया बताया गया था। शुक्रवार को सुबह 11 बजे अबरार का भाई और उसकी पत्नी बच्चे को लेकर चिकित्सक को दिखाने आए। चिकित्सक ने परीक्षण के बाद कंपाउंडर से ड्रिप लगवा दी। पिता अबरार का आरोप है कि ड्रिप लगने के कुछ देर बाद बच्चे की तबीयत बिगड़ने लगी। वह चिकित्सक के कैबिन में उन्हें बुलाने गया तो वह फोन पर बात कर रहे थे तथा उन्होंने उसकी बात नहीं सुनी। इसी दौरान बच्चे की मौत हो गई। इसके बाद भी डॉक्टर ने परिजनों से कहा कि बच्चे को कहीं और ले जाने के लिए कहा। परिजन बच्चे को निकट स्थित दूसरे नर्सिग होम में ले गए। जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। इसके बाद गुस्साए परिजनों ने नर्सिग होम में पहुंच कर हंगामा काटा। सूचना पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंच गई थी। कोतवाल वीके दुबे का कहना है कि तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।नौ वर्ष बीते शादी को, बहन से गोद लिया था मासूम : चार माह के बच्चे की मौत के बाद परिजन अस्पताल में ही बिलखने लगे। अबरार के विवाह को नौ वर्ष बीत चुके हैं, लेकिन उसके कोई संतान नहीं थी। इस पर उसने अपनी सगी बहन से नवजात बच्चे को गोद लिया था, लेकिन उसकी भी मौत हो गई। परिचित एवं रिश्तेदारों की जुबां पर भी एक ही बात थी संतान सुख के लिए बच्चे को गोद लिया, उसने भी दम तोड़ दिया।