अलवर / एसपी की तैनाती पर विवाद, किरोड़ी-बेनीवाल ने कहा- जो अफसर पहले ही संदिग्ध, उसी को सौंपी कमान

महेशचन्द्र मीणा 

अलवर में नवनियुक्त एसपी देशमुख पारिस अनिल की नियुक्ति को लेकर सवाल उठने लगे हैं। राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक हनुमान बेनीवाल ने आरोप लगाया है कि नागौर में तैनाती के दौरान देशमुख एक पुलिसकर्मी के परिवार की सामूहिक हत्या के मामले में संदिग्ध हैं।

इसके बावजूद राज्य सरकार ने उनको अलवर जिले में तैनाती दे दी है। सांसद किराेड़ी लाल शनिवार काे अलवर में कलेक्ट्रेट का घेराव करेंगे। वहीं नागौर में एक प्रेस कान्फ्रेंस में हनुमान बेनीवाल ने कहा कि अलवर में ऐसे एसपी को नियुक्ति दी गई जो नागौर जिले में पुलिस के ही एक सिपाही गेनाराम मेघवाल के परिवार सहित सामूहिक आत्महत्या के लिए ज़िम्मेदार था और जांच अधिकारी आईजी बीएल मीणा ने जिसको संदेह के घेरे में माना था। ऐसे अफसर को नियुक्त करना इस बात की ओर इशारा करता है की सरकार को दलित हितों की कोई परवाह नहीं है।