संदिग्ध परिस्थितियों में छात्र की मौत, हत्या का आरोप

प्रदीप कुमार 

फर्रुखाबाद : घर से गेहूं काटने गए छात्र की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। उसका शव गंगा किनारे मिला। किशोर के पैर पानी में व सिर बाहर मिला। घटना की सूचना पर एएसपी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

फतेहगढ़ कोतवाली के गांव कुड़री खेड़ा निवासी कमलेश राजपूत का 16 वर्षीय पुत्र पिटू राजपूत शुक्रवार सुबह बहन वंदना, भाई अरविद, दादी मुन्नी उर्फ जय देवी के साथ गेहूं काटने के लिए गंगा कटरी के गांव हुसैनपुर नौखंडा में गया था। दोपहर को पिटू घर जाने की बात कहकर खेत से चला आया। दोपहर 12 बजे के करीब जब उसके परिजन खेत से घर जा रहे थे तो उनकी निगाह एक गड्ढे में भरे गंगा के पानी में पड़ी। उन्होंने पिटू के पैर पानी में व सिर बाहर देखा तो कोहराम मच गया। पीठ पर जलने के निशान थे। बहन की सूचना पर पिटू की मां सुनीता आदि परिजन मौके पर आ गए। अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन सिंह, सीओ सिटी रामलखन सरोज, कोतवाल अजय नारायण सिंह, निरीक्षक सुरेंद्र सिंह, याकूतगंज चौकी प्रभारी अभय सिंह मौके पर पहुंचे। जांच के बाद पुलिस ने शव पोस्टमार्टम हाउस ले आई। परिजनों ने बताया कि पिटू कक्षा नौ का छात्र था। परिजनों ने पिटू को जलाकर मार डालने का आरोप लगाया। प्रभारी निरीक्षक ने तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। ..तो कहां गई किशोरीपोस्टमार्टम हाउस में पिटू की बुआ सीता आदि परिजनों की कोतवाल से नोकझोंक हो गई। परिजनों ने बताया कि परिवार की एक किशोरी को गांव का एक युवक विगत सात अप्रैल को ले गया था। पुलिस अभी तक किशोरी को बरामद नहीं कर सकी। जबकि तीन आरोपित जेल में हैं। इसी रंजिश में आरोपितों ने पिटू को मार डाला।